Navjot Singh Sidhu | नवजोत सिंह सिद्धू की पूरी कहानी

Navjot Singh Sidhu

Navjot Singh Sidhu | नवजोत सिंह सिद्धू की पूरी कहानी


साथियों आज हम बात करने जा रहने हैं लगातार सुर्ख़ियों में बने रहने वाले “नवजोत सिंह सिद्धू | Navjot Singh Sidhu” की… जब समुद्र शांत हो तो कोई भी जहाज चला जा सकता है, ये कहना है नवजोद सिंह सिद्धू का जो अक्सर किसी न किसी वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं!

नवजोद सिंह सिद्धू क्या काम करते है ये बताना थोड़ा मुश्किल है क्योकि वो हर फील्ड में माहिर है नवजोद सिंह सिद्धू जाने माने क्रिकेटर ही नहीं, कॉमेडी शो के जज, कवि, सांसद, कमेंटेटर भी है| आज हम Navjot Singh Sidhu के जीवन के कुछ महत्वपूर्ण बिन्दुओं के बारे में आपको बताएँगे….


नवजोत सिंह सिद्धू का जन्म 20 अक्टूबर 1963 को पंजाब राज्य के पटियाला जिले में हुआ था | उनके पिता सरदार भगवंत सिंह सिद्धू भी एक क्रिकेट थे और उनकी दिली इच्छा थी की के नवजोत सिंह सिद्धू अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपने कदम जमाए |

सिद्धू ने पटियाला के यदिवेंद्र स्कूल से प्रारम्भिक शिक्षा और चंडीगढ़ के मोहिन्द्रा कॉलेज से स्नातक उत्तीर्ण की और वो पंजाव यूनिवर्सिटी से कानून विषय में स्नातक है| नवजोत सिंह सिधु के एक बेटी राबिया और एक बेटा करण है|

अपने पिता के क्रिकेटर होने और शुरुआत से ही क्रिकेट से लगाव होने के कारण नवजोत सिंह सिद्धू बचपन में ही क्रिकेट के माहिर हो गए थे| नवजोत सिंह सिद्धू का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर 1983 से लेकर 1999 तक रहा|

अपने पिता के जाने-माने क्रिकेटर होने के बावजूद नवजोत सिंह सिद्धू को अपने शुरुवाती जीवन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा| आलम यह था की अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट के दो टेस्ट मैच खेलने के बाद उन्हें टीम से बाहर बैठना पड़ा था|

लगभग 5 वर्षो तक क्रिकेट में संघर्ष करने के बाद उनकी किस्मत तब चमकी जब उनको 1987 के वर्ल्ड कप के लिए चुन लिया गया|  नवजोत सिंह सिधु ने एक इंटरव्यू में बताया था कि 1983 से क्रिकेट में आने के बाद जब वो काफी खराब दौर से गुजर रहे थे तब जाने माने क्रिकेट लेखक राजन भोला ने उन पर एक आर्टिकल लिखा जिसका शीर्षक “Sidhu: The Strokeless Wonder” था, जो की इंडियन एक्सप्रेस में छपा था|

इस आर्टिकल के छपने के बाद  नवजोद सिंह सिद्धू ने अपने जीवन में बदलाव लाना आरम्भ किया और क्रिकेट में अपने स्तर को सुधारने का प्रयास किया जिसकी बदौलत उनको 1987 के वर्ल्ड कप में बेहतर प्रदर्शन किया |

अब नवजोद सिंह सिद्धू की प्रसिद्धि धीरे-धीरे बढ़ने लगी थी| तब उसी लेखक ने फिर नवजोत सिंह सिद्धू पर एक आर्टिकल लिखा जिसका शीर्षक था “Sidhu: From Strokeless Wonder To A Palm-Grove Hitter” | इस तरह क्रिकेट में आलोचनाओं से उन्होंने अपने स्तर को सुधारा|

नवजोत सिंह सिधु ने अपना अंतिम टेस्ट मैच 6 जनवरी 1999 को न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ खेला था जबकि अंतिम एक दिवसीय मैच 20 सितम्बर 1998 को पाकिस्तान के विरुद्ध खेला था | इसके बाद दिसम्बर 1999 में उन्होंने अपने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में सन्यास की घोषणा कर दी|

अपनी बल्लेबाजी में बेहतर प्रदर्शन के कारण उन्हें “Sixer Sidhu” कहकर पुकारा जाता था| हालाँकि नवजोत सिंह सिध्दू का क्रिकेट करियर तो खत्म हो गया था लेकिन उन्हें अभी ओर भी पारिया खेलनी थी|

क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद सिद्धू ने 2001 में भारत के श्रीलंका दौरे से बतौर कमेंटेटर अपना करियर शूरू कर दिया| कमेंटेटर के तौर पर सिद्धू ने अपनी अलग पहचान बनाई| क्रिकेट कमेंट्री में नवजोत सिंह सिद्धू अपनी शायरियों के कारण फेमस हो गये जिसे हम “Sidhuisms” कहते है |

शुरुवात में Navjot Singh Sidhu ने ESPN-Star और बाद में Ten Sports के लिए काम किया | इसके बाद वे भारत के समाचार चैनलों पर “Cricket Analyst” के तौर पर दिखने लगे| आजकल सिद्धू IPL में हिंदी कमेन्ट्री करते है|

नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने टीवी करियर की शुरुवात “Star One” पर शुरू हुए नाटक “The Great Indian Laughter Challenge” से की थी जहाँ उन्होंने शेखर सुमन के साथ बैठकर जज के तौर पर अपनी हंसी से खूब नाम कमाया|

इसके बाद इससे मिलते जुलते नाटक “पंजाबी चक दे” में भी बतौर जज काम किया | इसके बाद Bigg Boss 6 बतौर contestant उन्होंने भाग लिया और कुछ सप्ताह रहने के बाद राजनीतक विवादों क्र कारण उन्हें शो बीच में ही छोड़ना पड़ा था|

इसके बाद वो पिछले कुछ सालो तक कपिल शर्मा के साथ Comedy Nights with Kapil में नजर आये और वर्तमान में कपिल शर्मा के नये शो The Kapil Sharma show में नजर आ रहे थे|

मगर पुलवामा हमले पर बयान के बाद सोशल मीडिया पर #BOYCOTTSIDDU लिख कर सिद्धूको कपिल के शो से बाहर निकाल ने की माँग की गयी| जिसके बाद सिद्धू ने कपिल शर्मा शो छोड़ दिया| इसके आलावा सिद्धू कुछ हिंदी और पंजाबी फिल्मो में Cameo Appearance में भी नजर आये है|

Controversy of Siddhu

नवजोत सिंह सिद्धू और कंट्रोवर्सी का पुराना नाता रहा है| हाल ही में चुनाव आयोग ने सिद्धू को नरेन्द्र मोदी के खिलाफ निजी टिप्पणी करने पर फटकार लगाते हुए नोटिस भेजकर जवाब मांगा है| इसके पहले भी उन पर एक व्यक्ति की गैर इरादतन हत्या का आरोप लगाकर मुकदमा चला और अदालत ने उन्हें तीन साल की सजा सुनायी।

जिसके बाद उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से भी तत्काल त्यागपत्र दिया| इसके अलावा पुलवामा हमले के दौरान पाकिस्तान की तरफदारी करने के चक्कर में उन्हें लोगों की काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा|

Intresting Fact about Navjot Singh Sidhu

हमारे इस खास आर्टिकल के इस अंक में हम आपको नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में कुछ खास फैक्ट्स बताने जा रहें हैं जिन्हें जानने के बाद आपको सिद्धू को लेकर सारे सवालों के जवाब मिल जाएँगे|

आएये आपको बताते है नवजोत सिंह सिद्धू से जुड़े कुछ रोचक तथ्य|

  • 1996 मे इंग्लैंड दौरे से सिद्धू अचानक वापस घर लौट आये थे क्योंकि उन्हें लगता था कि कप्तान मोहम्मद अजहरुदीन उन्हें गालिया सूना रहे थे|
  • 1983 की शुरवात में दो टेस्ट खेलने के बाद उन्हें टीम से बाहर बिठा दिया गया था लेकिन 1987 वर्ल्ड कप में उन्होंने दमदार वापसी की|
  • नवजोत सिंह सिद्धू कुछ फिल्मो जैसे ABCD 2, मुझसे शादी करोगी और मेरा पिंड फिल्मो में स्पेशल Apeereance में नजर आये है|
  •  बिग बॉस में रहने के बाद राजीनीतिक हलचल की वजह से उन्हें शो बीच में ही छोड़ना पड़ा था|
  • सिख होने क बावजूद उन्हें हिन्दू धर्म का बहुत ज्ञान है और उन्हें हिन्दू धर्म के सारेग्रंथो की परख है|
  • नवजोत सिंह सिद्धू योग में माहिर है, और अपने पिता की मौत के बाद जब वो बुरे दौर से गुजर रहे थे तब योग की वजह से उनको ताकत मिली थी जिसे वो अपने जीवन में आज तक आजमा रहे है|
  • जब सिद्धू काफी समय तक लोकसभा से बाहर रहे थे तब एक NGO ने उनको ढूंढ़कर लाने वाले को 2 लाख के इनाम की घोषणा की जो एक व्यंग्य का रूप में उनपर तंज कसा गया था|
  • नवजोत सिंह सिद्धू सिगरेट और शराब नही पीते है और शुद्ध शाकाहारी है|
  • नवजोत सिंह सिद्धू को इन्टनेट पर सर्फिंग करना काफी पसंद है|

यह भी पढ़ें:-

Salman Khan House | दबंग सलमान का इंदौर कनेक्शन

Brihaspativar Vrat Katha – बृहस्पतिवार व्रत कथा

Gulzar Shayari | Gulzar Poetry | 100 गुलज़ार शायरी


साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस [email protected] पर अवश्य लिखें!

दोस्तों! आपको “Navjot Singh Sidhu | नवजोत सिंह सिद्धू की पूरी कहानी पर हमारा यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट में ज़रूर लिखे| और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें!

अब आप हमारी कहानियों का मज़ा सीधे अपने मोबाइल में हमारी एंड्राइड ऐप के माध्यम से भी ले सकते हैं| हमारी ऐप डाउनलोड करते के लिए निचे दी गए आइकॉन पर क्लिक करें!

Hindi Short Stories

अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ शेयर करें!
  •  
  •  
  •  

One Comment on “Navjot Singh Sidhu | नवजोत सिंह सिद्धू की पूरी कहानी”

Leave a Reply