POETRY

Hindi Poem

Hindi Poem


साथियों नमस्कार

शायरी (Hindi Poem), दिल की गहराइयों से निकली वह आवाज़ जिसे शब्दों के एक अलग ही मायाजाल में पिरोकर जब सामने रखा जाता है तो शब्द दिल की गहराइयों तक उतर जाते हैं |

जी हाँ दोस्तों, हम सभी को अपने दिल के हाल बयां करने के लिए शब्दों में पिरोकर राखी गई उन प्यार भरी बातों की खोज रहती है जिन्हें हम पढ़कर या किसी को भेजकर अपने ज़ज्बात बयां कर सकें |

Hindi Short Stories हमारे सभी पाठकों के लिए हमारे लेखक द्वारा रचित ऐसी कुछ खास शायरियों (Hindi Shayari) को लेकर आया है जिन्हें पढ़कर आपको अपने हाल इ दिल की खबर हो जाएगी | तो हमारी वेबसाइट के इस Page Shayari को पढ़िए और अपने दिल की गहराइयों में खो जाइए…..

धन्यवाद् !!


1 . प्यार, मुहोब्बत, इश्क ( Mohabbat Shayari in Hindi )…खुदा का इन्सान को दिया गया वह नजराना है जिससे इन्सान खुद को जानवरों से अलग मानता है| हालाकिं जानवर भी हमसे या दुसरे जानवरों से मुहोब्बत करते हैं, लेकिन मुहोब्बत को बयां करने का जो हुनर इंसानों के पास है वह दुनियां में और किसी के पास नहीं| ऐसा ही एक हुनर है शायरी, शब्दों को एक अलग ही जादुई ढंग से पिरोकर बनाया गया एक खास अल्फाज़ जो दिल से निकले और सीधा किसी के दिल में उतर जाए| कुछ ऐसे ही अल्फाजों को पिरोकर आपके बिच हम लेकर आए हैं हमारी खास शायरी…..

मुहोब्बत | Mohabbat Shayari in Hindi


2. क्या गिले-शिकवे रखते हो, आज़ाद करो मुझे…२
क्या कंजूसी करते हो, दिल खोल कर बर्बाद करो मुझे!

पढ़े पूरी कविता और मज़ा ले…

प्यार | Love Shayari


3. थोडा मुश्किल है हमारा सुधर जाना…
हर शाम की तरह हम ढलते नहीं!

पढ़ सके कोई हमारे दिल की महरूम धड़कने…
इस कदर भी हम कभी मचलते नहीं!

पढ़े पूरी कविता और मज़ा ले..

धड़क | Dhadak Love Poem in Hindi


4. इन अंधेरों में मुझे एक रौशनी सी दिखती है…कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

जैसे वादियों में शामिल कोई नमी सी दिखती है…कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

पढ़े पूरी कविता और मज़ा ले..

ज़िन्दगी- Hindi Poems on Life




5.  शादी के बाद होने वाली नोक झोक से प्रेरित हमारी यह हास्य कविता “तो बर्बाद हो तुम” जरुर पढ़ें…

तो बर्बाद हो तुम | हास्य कविता | Hasya Kavita in hindi


6. क्यों कहू तुझसे की ना करूँगा मुहोब्बत अब किसी और से ,
कहने को वेसे भी अब क्या रहा,जो बात करूँगा किसी और से
वक्त दर वक्त, लम्हा दर लम्हा गुज़रे जो ज़िन्दगी…
तेरी तरह, तेरे जैसे कोई लगा ले मुझे गले, क्या खुद जा के कह सकूँगा किसी और से ?

किसी और से-Love Poem in Hindi


7. बड़े दिनों बाद, फ़ोन  पर हम दोनों देर तक खामोश रहे..
लफ्ज़ सरे गायब थे, पर बातें हजारों हो गई!

बड़े दिनों बाद-Love Poem in Hindi


8. तू दिल हे मेरा,उस दिल की धड़कन मुझे पता हे!

तू गीत हे मेरा,उस गीत की सरगम मुझे पता हे…

पढ़ें पूरी कविता…

मुझे पता हे-Love Poem in Hindi


9. वो खड़ी थी दरवाज़े पर, अकेले कब से…
चूल्हे से रोटी की भीनी खुशबु आई थी शायद जब से..

या शायद तब से जब माँ ने पंडित के कहने पर एक रोटी कुत्ते को डाली
या शायद तब से जब हम सब ने अपने हिस्से की रोटी खा ली..

भूख-Hindi Kavita


10.  परवाह है किसे ज़माने की, हम तो नशे में है,
आदत है किसे निभाने की, हम तो नशे में है!
है हम आदि, ज़िल्लत और ज़ुल्म के…
हसरत है किसे कमाने की, हम तो नशे में है!

हम तो नशे में है-Love Poem in HIndi


साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस hindishortstories2017@gmail.com पर अवश्य लिखें!

दोस्तों! आपको हमारा यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट में ज़रूर लिखे| और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें!

अब आप हमारी कहानियों का मज़ा सीधे अपने मोबाइल में हमारी एंड्राइड ऐप के माध्यम से भी ले सकते हैं| हमारी ऐप डाउनलोड करते के लिए निचे दी गए आइकॉन पर क्लिक करें!

Hindi Short Stories

यह भी पढ़ें:-

Spiritual Stories के लिए यहाँ क्लिक करें!
Love Stories के लिए यहाँ क्लिक करें!
Love Poem के लिए यहाँ क्लिक करें!

 

अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ शेयर करें!
  •  
  •  
  •