मुहोब्बत | Mohabbat Shayari in Hindi

Mohabbat Shayari in Hindi


प्यार, मुहोब्बत, इश्क ( Mohabbat Shayari in Hindi )…खुदा का इन्सान को दिया गया वह नजराना है जिससे इन्सान खुद को जानवरों से अलग मानता है| हालाकिं जानवर भी हमसे या दुसरे जानवरों से मुहोब्बत करते हैं, लेकिन मुहोब्बत को बयां करने का जो हुनर इंसानों के पास है वह दुनियां में और किसी के पास नहीं| ऐसा ही एक हुनर है शायरी, शब्दों को एक अलग ही जादुई ढंग से पिरोकर बनाया गया एक खास अल्फाज़ जो दिल से निकले और सीधा किसी के दिल में उतर जाए| कुछ ऐसे ही अल्फाजों को पिरोकर आपके बिच हम लेकर आए हैं हमारी खास शायरी…..

मुहोब्बत

कैसी उठी है दिल में, शरारत नई-नई…२
दिल चाहता है अब करना, मुहोब्बत नई-नई!

हो दिल से निकली हर बात, जो सुने कोई दिल से…२
दिल चाहता है अब करना, इबादत नई-नई!

उसके चहरे की अलकों में, छिपा हो कोई नग्मा…२
पढ़ ले जिसे कोई, तो आए क़यामत नई-नई!

मुक्कदर में मेरे, लिखी है खुशियाँ तुझसे ही…२
शायद खुदा की है तू कोई रहमत नई-नई!

महसूस हो रहा है मुझे, अब हर लम्हा मुहोब्बत का…२
खुल गई हो जैसे कोई, किस्मत नई-नई

Mohabbat Shayari in Hindi

इस शायरी को यू-ट्यूब  पर सुनने के लिए निचे दी गए विडियो पर क्लिक करें!

यह भी पढ़ें-
प्यार | Love Shayari
धड़क | Dhadak Love Poem in Hindi
ज़िन्दगी- Hindi Poems on Life


दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें Comment Section में ज़रूर बताएं और हमारा फेसबुक पेज  जरुर Like करें|

5 thoughts on “मुहोब्बत | Mohabbat Shayari in Hindi”

Leave a Reply

%d bloggers like this: