Skip to content
Hindi Short Stories » Moral Stories » Page 2

Moral Stories

साथियों नमस्कार !

दोस्तों, आप सभी को याद है कैसे हम बचपन में रात हो जाने पर दादी नानी की गोदी में जाकर बेठ जाते थे और उनसे कहानी (Moral Stories) सुनने की जिद किया करते थे | उन कहानियों के राजा-रानी खुद को मानकर हम दादी-नानी लेकिन जैसे-जैसे हम बड़े होते गए ज़िन्दगी की भागदौड़ में बचपन की कहानियां जाने कहाँ छुट गई हमें पता ही नहीं चला | कभी-कभी हम उन्हीं कहानियों में खुद को ढूंढने की कोशिश करते हैं, लेकिन हमें बचपन की वो कहानियां नहीं मिलती |

इसीलिए हमारी वेबसाइट की खास पाठकों के लिए हम ढेर सारी Moral Stories लेकर आएं हैं, जिन्हें पढ़कर आप खुद को बचपन की उन गलियों में  महसूस करेंगे जहाँ कभी आप अठखेलियाँ किया करते थे |

धन्यवाद !!

Hindi Short Stories with Moral Value | प्रेरणादायक कहानियां

प्रेरणादायक कहानियां | Hindi Short Stories with Moral Value हिंदी कहानियों का हमारी ज़िन्दगी में एक खासा महत्व है| हमारी ज़िन्दगी की कई परेशानियों का… Read More »Hindi Short Stories with Moral Value | प्रेरणादायक कहानियां

प्रेरणादायक हिंदी कहानियां | Hindi Short Stories with moral

प्रेरणादायक हिंदी कहानियां | Hindi Short Stories with moral डर अच्छे-अच्छों के छक्के छुडा देता है| एक बहुत पुरानी कहावत हैं जो “डर गया वह मर… Read More »प्रेरणादायक हिंदी कहानियां | Hindi Short Stories with moral

प्रेरक प्रसंग | Dharmik Kahaniya

                 प्रेरक प्रसंग | Dharmik Kahaniya जीवन में कुछ सुने-सुनाए  प्रेरक प्रसंग हमें कभी-कभी ज़िन्दगी का एक बड़ा पाठ पढ़ा जाते है, इसलिए बड़े बुजुर्ग… Read More »प्रेरक प्रसंग | Dharmik Kahaniya