Hindi Short Stories

Hindi Poems on Life | ज़िन्दगी

Hindi Poems on Life

Hindi Poems on Life | ज़िन्दगी

साथियों नमस्कार, आज हम आपके लिए ज़िन्दगी की कविताएँ  “Hindi Poems on Life” लेकर आएं हैं जिन्हें पढ़कर आपको ज़िन्दगी जीने का एक नया नज़रियाँ देखने को मिलेगा| जिसे पढ़कर आप जान पाएँगे की ज़िन्दगी आखिर है क्या… 


ज़िन्दगी |  हिंदी कविता

इन अंधेरों में मुझे एक रौशनी सी दिखती है…

कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

जैसे वादियों में शामिल कोई नमी सी दिखती है…
कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

में तन्हां बैठा हूँ, किसी पेड की छांव में और वो फुल की एक कली सी दिखती है…
कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

हो शामिल जैसे हर जश्न में एक ख़ुशी और वो ख्वाबों की परी सी दिखती है…
कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

जब हर चीज को पाने को मचलता हूँ में, और वो खिलखिलाती एक तितली सी दिखती है
कहीं ये मेरी ज़िन्दगी तो नहीं!

Hindi Poems on Life

© Copyright Hindi Short Stories डॉट कॉम

Funny शायरियों के लिए यहाँ क्लिक करें 


“क्या है ज़िन्दगी – What is Life”

शून्य में निहारते आसमान को देख कर भूल जाता हूं मैं अपनी परेशानी ।

तितलियों को फूलों की पंखुड़ियों पर बैठ कर हवाओं के साथ लहराते देख कर भूल जाता हूं सारे तनाव ।

अविरल बहती नदियों को देख कर भूल जाता हूं सारे अवसाद ।

पहाड़ों पर चढ़ कर दूर हरे भरे खेतों को आसमानी निगाहों से देखकर भूल जाता हूं सारे दर्द ।

झरनों से सरसरा कर नीचे आते पानी को देखकर भूल जाता हूं सारे कुंठा ।

लहराते सरसौ के खेत में हाथ फैला कर खड़े होकर भूल जाता हूं सारे शिकवे ।

प्रकृति प्रदत्त वस्तुऐं ऐसे करती हैं मेरा काउंसेलिंग ।
जो एक मनोवैज्ञानिक नहीं कर पाता ।

प्रकृति प्रदत्त वस्तुऐं इस तरह बढ़ाती है मेरा हौसला ।
बंधाऐं रखती है ढ़ाढ़स ।

की निरंतर चलना ही है जिंदगी ।
मस्ती में रहना ही है जिंदगी ।
वर्तमान को जीना ही है जिंदगी ।
सांसे जब तक हो खुश हो कर जीना ही है जिंदगी ।

©किशोर झा

प्यार के हसीन लम्हों की शायरियाँ 


“ज़िन्दगी की कहानी |  Hindi Poem”

सच तो है ये जिंदगी कुछ लम्हात
एहसासों की है बस कहानी
हर सासों और एहसासों में है ये
आनी जानी

हर पल लम्हे एहसासों में छुपे हैं
न जाने कितने ही मुखौटे
फेंक दो तुम भी अब ये मुखौटा
जो भीड़ में चलोगे तो बस
भेड़ बनके ही रहोगे………… 

फैकोगे जो ये मुखौटा
पाओगे खुद को पंछी
उड़ोगे तुम भी फिर
इस विशाल से गगन में 
सच तो है ये जिंदगी…..

ढूंढ लो इस भीड़ में भी
वो दो चमकती आंखें
हां – हां वही जो हैं बिन
मुखौटा
हां वही हैं अब तुम्हारी
बस तुम्हारी…………..
हां वही हैं सबसे प्यारी
तो बस बढे चलो, इन
एहसासों में , और जीलें
अपनी जिंदगी.

© जया श्रीवास्तव


पढ़ें दर्दे दिल की गम भरी शायरियाँ 

साथियों आपको “Hindi Poems on Life” हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताएं और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें|

साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस hindishortstories2017@gmail.com पर अवश्य लिखें!

अब आप हमारी कहानियों का मज़ा सीधे अपने मोबाइल में हमारी एंड्राइड ऐप के माध्यम से भी ले सकते हैं| हमारी ऐप डाउनलोड करते के लिए निचे दी गए आइकॉन पर क्लिक करें!

यह भी पढ़ें:-

रोमेंटिक शायरियां 

दोस्त की दोस्ती के लिए शायरियां 

Exit mobile version