10 Best Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए10 शानदार स्थान

Places to Visit in Bhopal
Share with your friends

साथियों नमस्कार, आज के अंक में हम “यात्रा वृतांत | Travel Stories” में आपके लिए मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की कुछ खास जगहों को हमारे खास संकलन “Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान” में आपके लिए लेकर आएं हैं|

आशा है आपको हमारा यह संकलन ज़रूर पसंद आएगा|


Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शानदार स्थान

भोपाल भारत देश के मध्य प्रदेश राज्य की राजधानी है। भोपाल की स्थापना परमार राजा भोज ने 1000 – 1055 ईस्वी में की थी। इसलिए भोपाल को “राजा भोज की नगरी” भी कहा जाता है। यहां कई छोटे बड़े तालाब होने के कारण इसे “झीलों की नगरी” भी कहा जाता है। साथ ही भोपाल मध्य प्रदेश के उन शहरों में से है, जहां से होकर कर्क रेखा गुजरती है।

भोपाल मध्य प्रदेश की राजधानी होने के साथ-साथ शिक्षा, व्यापार और पर्यटन में भी उच्च स्थान रखता है। भोपाल पहुंचने के लिए हवाई मार्ग, रेल मार्ग व सड़क मार्ग तीनों मार्ग उपलब्ध है। भोपाल का राजा भोज हवाई अड्डा शहर से 12 किलोमीटर दूरी पर है। भोपाल हवाई अड्डे से देश के विभिन्न शहरों के लिए एयर इंडिया व अन्य निजी एयरलाइंस कंपनियों की नियमित उड़ान सेवाएं उपलब्ध है।

भोपाल रेलवे स्टेशन दिल्ली चेन्नई मुख्य मार्ग पर पड़ता है। भोपाल रेलवे स्टेशन अनेक रेलगाड़ियों के माध्यम से विभिन्न शहरों से जुड़ा है। भोपाल का कुशाभाऊ ठाकरे अंतर्राज्यीय बस अड्डा मध्य प्रदेश व पड़ोसी राज्यों के विभिन्न शहरों से नियमित बसों के माध्यम से जुड़ा है।

यदि पर्यटन की दृष्टि से देखा जाए तो भोपाल में अनेक स्थल ऐसे है, जो आकर्षण का केंद्र हैं। कई स्थान ऐतिहासिक है। तो कई स्थान हरियाली से परिपूर्ण है। तो आइए भोपाल व उसके आसपास स्थित पर्यटन स्थलों के बारे में जानते हैं।


1. ऊपरी झील या बड़ा तालाब | Upper Lake Bhopal

Places to Visit in Bhopal Upper Lake Bhopal
Places to Visit in Bhopal Upper Lake Bhopal

भोपाल में सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है, ऊपरी झील। जिसका स्थानीय नाम “भोजताल” या “बड़ा तालाब” है। यह एक मानव निर्मित झील है जिसका निर्माण परमार राजा भोज ने 11वीं सदी में करवाया था। वैसे तो भोपाल में अनेक छोटी-बड़ी झीले हैं, किंतु उनमें सबसे महत्वपूर्ण ऊपरी झील हैं। जिससे भोपाल के निवासियों के लिए 40% पीने के पानी की पूर्ति होती है।

बड़े तालाब का पानी भोपाल के आसपास कृषि क्षेत्र में सिंचाई के लिए भी उपयोग किया जाता है। ऊपरी झील भोपाल शहर के पश्चिम मध्य भाग में स्थित है। इसके दक्षिण में वन विहार राष्ट्रीय उद्यान स्थित है। इस झील की लंबाई लगभग 31 किलोमीटर तथा चौड़ाई लगभग 5 किलोमीटर है। इस झील की आकृति छिपकली की भांति प्रतीत होती है। झील के पानी में पर्यटक पैदल बोट, क्रूज बोट, मोटर बोर्ड का भी आनंद लेते हैं।

बात की जाए ऊपरी झील घुमने के लिए प्रवेश शुल्क की तो यहां आने वाले पर्यटकों को कोई भी प्रवेश शुल्क नहीं लगता। किंतु पैदल वोट, क्रूज बोट व मोटर बोट का आनंद लेने के लिए शुल्क लगता है।

तालाब में कई प्रकार के जीव जंतु भी पाए जाते हैं। साथ ही यहां का प्राकृतिक सौंदर्य पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहता है। बड़ा तालाब घूमने के लिए सप्ताह के सातों दिन सुबह 6:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक समय उचित होता है। राजा भोज हवाई अड्डे से बड़ा तालाब की दूरी लगभग 10 किलोमीटर तथा रेलवे स्टेशन से दूरी लगभग 11 किलोमीटर व बस स्टैंड से दूरी लगभग 10 किलोमीटर है।


2. निचली झील या छोटा तालाब | Lower Lake Bhopal

 Places to Visit in Bhopal Lower Lake Bhopal
Places to Visit in Bhopal Lower Lake Bhopal

ऊपरी झील की तरह निचली झील भी भोपाल के पर्यटक स्थलों में से एक है। इस निचली झील को छोटा तालाब के नाम से भी जाना जाता है। इस झील का निर्माण 1794 में शहर को सुंदर बनाने के लिए किया गया था। तब से यह झील आकर्षण का केंद्र है। निचली झील ऊपरी झील के पूर्व में स्थित है। दोनों झीले मिट्टी के बांध द्वारा एक दूसरे से पृथक होती है।

ऊपरी झील की तरह ही निचली झील भी बेहद खूबसूरत व आकर्षण से परिपूर्ण है। यहां भी मोटर बोट और पैदल वोट का आनंद पर्यटक लेते हैं। हरियाली से भरा यह सुंदर वातावरण मन को प्रसन्न करता है। तालाब किनारे बैठकर लहरों का लुफ्त उठाना भी आनंद देता है। यहां प्रवेश के लिए भी पर्यटकों को कोई शुल्क नहीं लगता।

बात की जाए यहाँ पहुंचने की तो भोपाल बस स्टेशन से इस झील की दूरी लगभग 6 किलोमीटर, रेलवे स्टेशन से दूरी भी लगभग 6 किलोमीटर तथा भोपाल एयरपोर्ट से दूरी लगभग 13 किलोमीटर हैं।

आप पढ़ रहें हैं Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान


3. मोती मस्जिद | Moti Masjid Bhopal

Places to Visit in Bhopal Moti Masjid Bhopal
Places to Visit in Bhopal Moti Masjid Bhopal

भोपाल स्थित मोती मस्जिद दिल्ली में बनी जामा मस्जिद के समान ही है। किंतु आकार में थोड़ी छोटी है। इस मस्जिद का निर्माण कदसिया बेगम की बेटी सिकंदर जहां बेगम ने 1860 ईस्वी में करवाया था। सिकंदर जहां बेगम का घरेलू नाम मोती बीबी था, और उन्हीं के नाम पर इस मस्जिद का नाम मोती मस्जिद रखा गया।

मस्जिद को सफेद संगमरमर व लाल पत्थर के इस्तेमाल से बनाया गया है। इस मस्जिद की वास्तुकला बहुत खूबसूरत है। मस्जिद के दाई और बाई और गहरे लाल रंग की दो मिनारे हैं। जो ऊपर से नुकीली है, और सोने के समान लगती है।

भोपाल स्थित मोती मस्जिद एक ऐतिहासिक मस्जिद है, और पर्यटक स्थल भी। यह मस्जिद स्थापत्य का बेहद खूबसूरत नमूना है। इसलिए भी यह पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है।


4. लक्ष्मी नारायण मंदिर | Laxmi Narayan Mandir

 Places to Visit in Bhopal Laxmi Narayan Mandir
Places to Visit in Bhopal Laxmi Narayan Mandir

सृष्टि के संचालन करता प्रभु श्री हरि नारायण और देवी लक्ष्मी का यह मंदिर भक्ति व श्रद्धा से परिपूर्ण मंदिर है। यह प्रसिद्ध लक्ष्मी नारायण मंदिर भोपाल में बिरला मंदिर के नाम से भी विख्यात है। जो कि अरेरा पहाड़ियों के निकट स्थित झील के दक्षिण में स्थित है। यह मंदिर 7-8 एकड़ पहाड़ी क्षेत्र में फैला हुआ है।

भोपाल का यह प्रसिद्ध बिरला मंदिर पांच दशक पूर्व स्थापित किया गया था। और तभी से यह मंदिर धार्मिक आस्था का केंद्र रहा है। मंदिर में माता लक्ष्मी व प्रभु श्री नारायण की मूर्ति के अतिरिक्त भगवान शिव व मां जगदंबा की प्रतिमा भी विराजमान है। साथ ही मंदिर परिसर में हनुमान जी की मूर्ति व शिवलिंग भी स्थापित है।

मंदिर के अंदर संगमरमर पर की नक्कासी पौराणिक दृश्यों को प्रदर्शित करती है। व उन पर गीता व रामायण के उपदेश भी अंकित हैं। इस प्रसिद्ध मंदिर में जन्माष्टमी पर प्रभु नारायण के कृष्ण अवतार की पूजा की जाती है। व दीपावली के त्यौहार पर देवी लक्ष्मी को प्रसन्न किया जाता है। इस प्रकार यह पौराणिक मंदिर अपने आप में सुंदरता और भव्यता धारण किए हुए पर्यटकों को आकर्षित करता है। यह स्थान शहर के मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक है।

आप पढ़ रहें हैं Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान


5. शौंकत महल | Shaukat Mahal Bhopal

 Places to Visit in Bhopal Shaukat Mahal Bhopal
Places to Visit in Bhopal Shaukat Mahal Bhopal

शौकत महल भोपाल शहर के बीचो-बीच चौक एरिया में प्रवेश द्वार पर स्थित है। शौकत महल का निर्माण भोपाल की प्रथम महिला शासिका नवाब कुदसिया बेगम ने 1830 ईसवी में करवाया था। शौकत महल का निर्माण इस्लामिक और यूरोपियन शैली के मिश्रण से हुआ है। महल की खूबसूरती और अद्भुत कलाकारी पर्यटकों को यहां आने पर विवश कर देती है।

शौकत महल की वास्तुकला से यहां के नवाबों का इतिहास जानने को मिलता है। शौकत महल अपनी बेहतरीन स्थापत्य शैली के कारण भोपाल शहर का एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक पर्यटक स्थल हैं।

हाल ही में नगर निगम ने शौकत महल के एक बड़े हिस्से को गिरा दिया है चूँकि महल के मालिकों ने इस इमारत की समय पर मरम्मत नहीं करवाई। इसलिए यह इमारत जर्जर घोषित कर दी गई थी। इसलिए इसका एक बड़ा हिस्सा गिरा दिया गया। किंतु आज भी यह शौकत महल भोपाल के ऐतिहासिक व पर्यटन स्थलों में अपना इतिहास लिए शामिल है।


6. उदयगिरि गुफाएं | Udayagiri Caves

 Udayagiri Caves Places to Visit in Bhopal
Udayagiri Caves Places to Visit in Bhopal

उदयगिरि की गुफाएं भोपाल से लगभग 57 किलोमीटर दूर स्थित है। यह गुफाएं भारत की सबसे प्राचीनतम गुफाओं में से हैं। यहां कुल 20 गुफाएं हैं। जो लगभग 5वीं शताब्दी के आरंभिक काल में बनी है। इन गुफाओं में भारत के कुछ प्राचीन मंदिर पर चित्र सुरक्षित है। इन गुफाओं में मिले शिलालेखों से यह स्पष्ट होता है, कि इन गुफाओं का निर्माण गुप्त नरेशों ने करवाया था।

उदयगिरि की गुफाएं पुरातात्विक स्थल है। यह पर्यटन के लिए पर्यटक को आकर्षित करती है। उदयगिरि का प्राचीन नाम “नीचैंगिरी” था। बाद में राजा भोज के पौंत्र उदयादित्य ने अपने नाम से इन गुफाओं का नाम “उदयगिरि” रख दिया।

भोपाल हवाई अड्डे से उदयगिरी की गुफाएं लगभग 63 किलोमीटर दूर, भोपाल रेलवे स्टेशन से यह गुफाएं लगभग 55 किलोमीटर दूर तथा भोपाल बस स्टेशन से लगभग 56 किलोमीटर दूर स्थित है। उदयगिरि की गुफाएं ऐतिहासिक स्थल के रूप में स्थित है। पर्यटक यहां घूमने के लिए आते हैं। व यहां आकर प्राचीन इतिहास के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

आप पढ़ रहें हैं Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान


7. सांची स्तूप |

 Sanchi Stupa Places to Visit in Bhopal
Sanchi Stupa Places to Visit in Bhopal

 

सांची स्तूप मध्य प्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक है। जो कि भोपाल से लगभग 48 किलोमीटर दूर स्थित है। यहां कई बौद्ध स्मारक स्थित है। जिनका निर्माण तीसरी शताब्दी ई. पू. से बाहरवीं शताब्दी के बीच हुआ। यहां छोटे-बड़े अनेक स्तूप हैं। स्तूप संख्या 2 सबसे बड़ा है। स्तूप संख्या 1 के पास कई लघु स्तूप भी है। यह स्तूप चारों से तोरणों से घिरा है। यहां एक गुप्तकालीन पाषाण स्तंभ भी है। जो प्रेम, शांति, विश्वास और साहस का प्रतीक है।

सांची के मुख्य स्तूप का निर्माण मूलत: महान सम्राट अशोक ने तीसरी शताब्दी ई. पू. में करवाया था। बाद में इस स्तूप का जीर्णोद्धार सम्राट अग्निमित्र शुंग ने करवाया। और इसे विशाल व आकर्षक बना दिया। इस स्तूप के शिखर पर एक छत्र है, और केंद्र में अर्ध गोलाकार ईंट से निर्मित ढाँचा हैं। जिसमें भगवान बुद्ध के कुछ अवशेष रखे हैं। भोपाल हवाई अड्डे से सांची स्तूप लगभग 55 किलोमीटर दूर स्थित है।

सांची का यह स्तूप सम्राट अशोक द्वारा बनवाया गया एक पुरातात्विक स्थल है। जो शुंग काल, सातवाहन काल व इसके बाद के काल के बारे में जानकारी प्रदान करता है। ऐतिहासिक धरोहर के रूप में स्थित सांची स्तूप ना केवल मध्य प्रदेश बल्कि भारत के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।


8. भीमबैंटका गुफाएं |

Rock Shelters of Bhimbetka Places to Visit in Bhopal
Rock Shelters of Bhimbetka Places to Visit in Bhopal

भीमबैंटका की गुफाएं भी भोपाल से लगभग 45 किलोमीटर दूर स्थित भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थलों में से एक है। भीमबैंटका की गुफाएं लगभग 30,000 साल पुरानी मानी जाती है। यह एक पुरापाषाणिक आवासीय स्थल हैं। यह गुफाएं आदि मानव द्वारा बनाए गए शैल चित्रों के लिए प्रसिद्ध है। इन चित्रों को पुरापाषाण काल से मध्य पाषाण काल के समय का माना जाता है।

इन गुफाओं की खोज डॉक्टर विष्णु श्रीधर वाकणकर ने की थी। भीमबैंटका की गुफाओं को जुलाई 2003 में यूनेस्को द्वारा विश्व विरासत सूची में शामिल कर विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया।

माना जाता है कि यह स्थान महाभारत के चरित्र भीम से संबंधित है। इसलिए इसका नाम भीमबैंटका पड़ा। भीमबैंटका की गुफाएं भारत में स्थित एक पुरातन स्थल हैं। जो आदिमानव के काल से संबंधित जानकारी प्रदान करती है। यहां का वातावरण पर्यटन की दृष्टि से अनुकूल है। आए दिन यहाँ इतिहास की खोज में पर्यटक आते रहते हैं।

आप पढ़ रहें हैं Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान


9. वन विहार राष्ट्रीय उद्यान |

Van Vihar National Park Bhopal Places to Visit in Bhopal
Van Vihar National Park Bhopal Places to Visit in Bhopal

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भारत के मध्य प्रदेश राज्य की राजधानी भोपाल में स्थित है। राष्ट्रीय उद्यान जहां घना जंगल और तरह-तरह के जंगली जानवर देखने को मिलते हैं।ऐसा ही वन विहार राष्ट्रीय उद्यान हैं, जो भोपाल शहर के बीचोंबीच स्थित है। यह राष्ट्रीय उद्यान “थ्री इन वन” राष्ट्रीय उद्यान हैं। अर्थात यह नेशनल पार्क होने के साथ-साथ एक चिड़ियाघर तथा जंगली जानवरों का बचाव केंद्र भी है।

यह राष्ट्रीय उद्यान 445 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है। इस राष्ट्रीय उद्यान में एक और हरियाली से परिपूर्ण पहाड़ औंर जंगल है। तो दूसरी और भोपाल का प्रसिद्ध बड़ा तालाब है। यह संगम बेहद खूबसूरत है।

इस विशाल राष्ट्रीय उद्यान को पैदल, साइकिल, मोटरसाइकिल, कार या फिर बस द्वारा घूम सकते हैं। जिसके लिए आपको निर्धारित शुल्क चुकाना पड़ता है। यह उद्यान सप्ताह के हर शुक्रवार बंद रहता है। इसके अलावा होली तथा रंग पंचमी को भी बंद रहता है। उद्यान बाकी पूरे साल खुला रहता है। सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक आप कभी भी उद्यान घूमने जा सकते हैं।

भोपाल का वन विहार राष्ट्रीय उद्यान जहां एक ओर हरियाली प्रेमियों को अपनी ओर आकर्षित कर अपने हरे भरे वातावरण से पर्यटको को लुभाता है। वहीं दूसरी ओर जीव जंतुओं से प्रेम करने वाले लोगों के लिए भी यह स्थान उत्तम है। विभिन्न प्रकार के जंगली जानवर यहां देखने को मिलते हैं। उनकी जीवनशैली उनका प्राकृतिक आवास इन सब की जानकारी हमें राष्ट्रीय उद्यान प्रदान करते हैं। यह प्राकृतिक वातावरण वाला राष्ट्रीय उद्यान पर्यटन के लिए उत्तम स्थान है।


10. बिरला संग्रहालय | Birla Museum

Birla Museum Places to Visit in Bhopal
Birla Museum Places to Visit in Bhopal

संग्रहालय अर्थात् म्यूजियम जहां बेशकीमती धरोहरो का संग्रह किया जाता है। ऐसा ही एक संग्रहालय भोपाल का बिरला संग्रहालय है, जहां शैंव, वैष्णव एवं देवी की मूर्तियों का अद्भुत संग्रह है। साथ ही अच्छी संख्या में उत्कृष्ट जैन मूर्तियों का भी संग्रह है। यह म्यूजियम लक्ष्मी नारायण मंदिर के पीछे वल्लभ मार्ग पर स्थित है।

इस संग्रहालय में राज्य के इतिहास के बारे में जानकारी प्रदान करने वाली कई प्रकार की कला और कला सामग्री है। यह मध्य प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत के रूप में जाना जाने वाला संग्रहालय है। जो कि भोपाल पर्यटन के अंतर्गत एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल हैं।

Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान


साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस hindishortstories2017@gmail.com पर अवश्य लिखें!

दोस्तों! आपको “Places to Visit in Bhopal | भोपाल में घूमने के लिए शीर्ष 10 स्थान” हमारा यह संकलन कैसा लगा हमें कमेंट में ज़रूर लिखे| और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें!

यह भी पढ़ें:-

जाने! आखिर क्यों कहते हैं चित्तौरगढ़ को शूरवीरों की धरती ?
ऐसे होती है उज्जैन की 84 कोस की परिक्रमा।

Share with your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *