3 Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

Most Romantic Love Story in Hindi

साथियों नमस्कार, आज हम आपके लिए एक ऐसी प्रेम कहानी “Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते” लेकर आएं हैं जिसे पढ़कर आपको रिश्तों में होने वाली ग़लतफ़हमियों से रिश्ते कैसे ख़राब हो जाते हैं इसे समझने का मौका मिलेगा| हमें आशा है की आपको हमारा यह संकलन ज़रूर पसंद आएगा|

Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

बैंगलोर एक शहर जैसे सपनों का शहर मुम्बई होता है वैसे ही अरमानो का बैंगलोर है। कितने सारे यंगस्टर्स यहां आते हैं नौकरी की तलाश में लोग कहते हैं यहां से कोई खाली हाथ नही जाता अगर रुक कर कोशिश करो तो ये शहर सबको कुछ न कुछ देता जरूर है।

सिर्फ इसिलये यहां पर सैंकड़ो आईटी कंपनियों के लिए हजारों युवा पढ़ाई खत्म कर आ जाते हैं कुछ जगहों पर बस वही लोग रहते हैं। वहां की गलियों में घूमो तो लगता है कि उत्तर भारत का कोई हिस्सा है। कॉलेज से बाहर आ कर इन युवाओं में कही चेहरों पर जोश दिखता है तो कहीं उदासी की कल नौकरी मिल जाएगी, उदासी की अब तक नही मिली।

कॉलेज में जहां ये लोग एक दूसरे से लड़ाई किया करते थे यहां पूरी तरह एक दूसरे का साथ देते हैं नौकरी के लिए कैरियर बनाने के लिए। बस इसी लिए कैफ़े कॉफी डे जो वहां सीसीडी के नाम से बहुत मशहूर है करीब 50 लोगो की बैठक थी| सभी युवा थे, किसी का इंतज़ार कर रहे थे… किसका ये पता नही|

नेहा ने कहा, कहाँ है यार राहुल… पता कर। शिल्पा ने फ़ोन किया, राहुल रास्ते में था। कुछ देर बाद राहुल आया। सबसे मिलते हुए देखना बड़ा ही अच्छा लग रहा था| 23 साल का सबके हाल चाल पूछ रहा था उसे देख कर सबके चेहरे पर एक मुस्कान थी।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

राहुल सारे उत्तर भारत से आने वाले लोगो का खयाल रखता था सब लोगो को एक साथ अच्छे से रहना एक दूसरे की मदद करना उसने सिखाया। जो भी मिले सामने वाले का नंबर मोबाइल में सेफ कर ले और जहां भी नौकरी के लिए ड्राइव आएँ बाकी को सूचित करें।

लगभग 200 लोगो से वो शाम को मिला किसी की तबियत का खयाल ओर किसी की नौकरी का…. एक हंस मुख लड़का। लेकिन वहां नौकरी करने वालो की ज़िंदगी एक जैसी रहती है। सुबह उठो आफिस जाओ और वापस आ शाम को घूमो| फिर वापस उसी बिस्तर पर सो जाओ। बिस्तर उठा कर रखने का भी समय नही मिल पाता।  बड़ी बिजी लाइफ|

जो बचा हुआ समय था, राहुल वो दुसरो के लिए लगा देता| सब एक दूसरे से अनजान लेकिन एक दूसरे के भरोसे। ऐसा ही चलता रहा। आज लेकिन सब कुछ बदला बदला  सा है| शाम को राहुल सीसीडी के सामने बैठा हुआ था।नेहा के साथ एक अनजाना सा चेहरा आ रहा था। पहले नज़र तो नेहा पर पड़ी लेकिन उसे देखने के बाद आस पास जैसे कुछ दिखाई ही नही दे रहा था, सब गायब।

दिल और दिमाग दोनो आउट ऑफ कंट्रोल थे। राहुल होश में आता इससे पहले वो सामने आ गई। नेहा ने सबसे मिलाना शुरू किया| ये रुचि है, मैंने बताया था ना आज ही इसने कंपनी में जॉइन किया है। राहुल को इस पूरे वाक्य में सिर्फ रुचि ही सुनाई दिया। अब इंट्रोडक्शन की बारी राहुल की थी तो होश में आना पड़ा।

राहुल ये रुचि है। ओह्ह अच्छा कहीं जॉइन किया या जॉब ढूंढनेके लिए आई हो।

नेहा ने बीच मे काटा। राहुल ध्यान कहाँ है तुम्हारा अभी तो बताया कि इसने आज ही जॉइन किया। नेहा ने कहा रुचि राहुल का नंबर मोबाइल में सेव कर लो। रुचि ने धीरे से कहा आपका नंबर राहुल ने नंबर दिया और मिस कॉल कर रुचि ने अपना।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

नेहा ने फिर कहा… रुचि यहां कोई भी परेशानी हो न तो ये समाजसेवी हैं यहाँ के,इनसे मिल लेना या फोन कर देना।

मीटिंग खत्म हुई और सभी अपने होस्टल और रूम चले गए। जहां लोग बाहर नौकरी के लिए आते हैं वहां घर बड़ी मुश्किल से बन पाता है।

होस्टल में राहुल को आज नींद नही आ रही थी सपनो में झरोखों के साथ बस रुचि का वही आते हुए चेहरा दिखाई दे रहा था। अगले दिन अवकाश था इंतज़ार बस सुबह का था वापस वहां जाना था उसी एक चेहरे को देखने।

सुबह हुई। राहुल वहां अपने एक दोस्त को लेकर पहुँच गया| कभी इस चाय की दुकान में बैठना कभी किसी दूसरी दुकान से 3 घंटे हो गए अब तक रुचि निकली ही नही।राहुल, रुचि आ रही है लग तो रहा है कि सुपर मार्केट जाएगी। राहुल भागते हुए सुपर मार्केट चला गया।

थोड़ी देर में दोनो एक दूसरे के सामने थे। बड़े ही साधारण लहज़े में बनते हुए राहुल ने पूछा। अरे रुचि शॉपिंग करने निकली हो। रुचि ने कहा-हाँ…. बहुत से सामान लेने है कल ही आई हूं तो कल आफिस के कारण ले नही पाई और नेहा को भी आज जाना पड़ा इसीलिये अभी निकली हूँ।

राहुल ने कहा लिस्ट लंबी है?

रुचि ने कहा हां।

Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

राहुल- चलो फिर।

रुचि-कहाँ?

राहुल- समान लेने मैं भी चलता हूँ।

रुचि-आप क्यों परेशान होंगे।

राहुल-आज हॉलीडे है।होस्टल में भी बोर ही होना पड़ेगा। बस एक बर्गर खिला देना। ये पूरा दिन राहुल के दिमाग ओर भी हिला देने वाला था| साथ घूमते हुए राहुल को इतना तो पता चल गया था कि रुचि भोपाल से है और क्या पढ़ाई की है।

रुचि के होस्टल में भी राहुल के चर्चे होते। जैसे कितना अच्छा नेचर है। बहुत हेल्पिंग है। आज शॉपिंग से वापस आ कर रुचि ने सोचा राहुल को थैंक्स बोल देती हूं। उसने मोबाइल उठाया और देखा राहुल भी कुछ टाइप कर रहा है वह थोड़ा सा रुक गई। यहां राहुल की हालत थोड़ी ही गंभीर थी, गंभीर बीमारी वाली नही फीलिंग वाली।

वो मोबाइल उठाता सोचता कुछ मैसेज करूँ फिर वापस रख देता 1 घंटे रुचि ने इतंजार किया फिर पूछ ही लिया। आप कुछ कहना चाहते हैं ?

राहुल-हाँ वो बर्गर नही खिलाया तुमने।

रुचि-इतना कहने के लिए 1 घण्टा लगता है कब से देख रही हूँ आप कुछ टाइप कर रहे थे।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

इस सवाल से बातों का सिलसिला शुरू हो गया जो सुबह 5 बजे खत्म हुआ।

उसके बाद भी राहुल को नींद नही गई। वह यही सोचता रहा ये क्या है क्या मैं हैप्पी हुँ या सैड हूँ। इतना मिक्स कभी फील नही होता। बड़ी देर सोचने के बाद उसे ये समझ आया कि वो चाहता है कि रुचि से बात करता रहे।

लेकिन फिर सोचा ये भी तो पॉसिबल नही है। फिर एक छोटा सा नींद का झरोखा आया। और नींद खुली तो दोपहर के 12 बज चुके थे।

रुचि इतनी देर में बार बार अपना मोबाइल देख रही थी। कहीं कोई मैसेज तो नही है। एक दूसरे से कुछ अनजान कुछ जाने पहचाने दोनो एक अजीब से हालात में थे| चाहते तो थे कि बात हो लेकिन पहल कौन करे।

अगर मैंने ज्यादा मैसेज किये तो मैं पकाऊ या चिपकू न लगु। शाम को जब दोनों सीसीडी के पास मिले तो दोनों की नज़रे बस एक दूसरे पर ही ठहर रही थी| लेकिन दोस्तो के सामने एक दूसरे से क्या कहते इसीलिए वापस आ गए और फिर मोबाइल को ताकना  शुरू कर दिया।

अब राहुल के पास मैसेज आ ही गया।उससे कुछ पूछा गया सवाल था – आप बिजी हो? राहुल ने जवाब दिया नही।

फिर कल से बात क्यों नही की। फिर वही बातों का सिलसिला शुरू हुआ। अब तो ये एक दूसरे की पहल की राह देखे बिना ही बात करते थे। दोनो आफिस से आ कर बस एक दूसरे में ही गुम रहते। समझ तो दोनों गए थे कि हाँ अब दोस्ती पीछे छूट चुकी है। लेकिन सारी बातें अभी दिल मे ही दबी थी। ऐसे ही कुछ महीने निकल गए।

आज राहुल का जन्मदिन है| रात के 9 बजे रुचि आँखों मे आंसू लिए राहुल के लिए गिफ्ट ले होस्टल के नीचे खड़ी हुई थी| गिफ्ट राहुल के हाथ मे रख वह उसी ऑटो से वापस चली गई जिससे वो आई थी। राहुल को समझ नही आया आखिर हुआ क्या? करीब 20 बार फ़ोन लगाने के बाद रुचि ने फोन उठाया। राहुल तो इस बात से भी अनजान था कि उसका जन्मदिन रुचि के लिए इतना मायने रखता है। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

रात 12 बजे से ही दोस्तो के फोन आने शुरू हो गए थे उसके बाद होस्टल की पार्टी में मोबाइल की बैटरी चार्ज करने का समय नही मिला।और सुबह से ऑफिस का काम पूरा दिन राहुल रुचि को समय नही दे पाया।

सॉरी मुझे नही पता था कि तुम मुझसे मिलना चाहती हो। राहुल ने कहा।

रुचि ने भी मुस्कुरा कर जवाब दिया कोई बात नही मैं आज का तुम्हारा दिन रो कर खराब नही करना चाहती।

राहुल ने पूछा कल मिलें।

मिलने की जगह तय हुई। रुचि ने राहुल और अपने दोस्तों को भी वहां बुलाया राहुल का जन्मदिन मनाने के लिए।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

राहुल सॉरी कहने के के लिए एक गुलदस्ता भी लाया था लेकिन यहां तो कुछ और ही हो गया। पार्टी खत्म होने के बाद बात करते करते अचानक राहुल ने रुचि से कहा आई लव यू। रुचि जानती ये बात अगर न राहुल ने कहता तो वह खुद कहती। लेकिन शरारतें कभी कभी कुछ पलों को यादगार बना देती हैं। रुचि ने उठ कर मुस्कुरा कर जवाब दिया ऐसे नही अच्छे से कहोगे तो ही हाँ करूंगी।

और वो उठ कर चली गईं।करीब एक मिनट बाद राहुल को होश आया वह भाग कर रुचि के पीछे गया। लेकिन रुचि ऑटो में बैठ कर जा रही थी। राहुल ने अपने दोस्त से कहा रुचि के पीछे चलने को दोस्त भी कहाँ पीछे रह जाते हैं। आगे एक चौराहे पर उनकी बाइक रुचि की ऑटो के सामने खड़ी थी और राहुल नीचे उतर कर घुटनो के बल बैठा हुआ था।

ये दृश्य राहुल और रुचि को तो बहुत अच्छा लग सकता था लेकिन जो गाड़िया ऑटो के पीछे थी उनको बिल्कुल नही लगा। ओ भाई मरना है तो कहीं और जा। अरे मजनू मर जायेगा हट वहां से तरह तरह के कमेंट आ रहे थे।Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

लेकिन ये सारे कमेंट राहुल के कान तक भी नही पहुँच पाए उसने बस रुचि को दिख कर कहा आई लव यू ओर एक रोज़ उसे दिया जब तक इसे नही लोगे उठूंगा नही। रुचि ने रोज़ लेते हुए राहुल की बात को स्वीकार कर लिया।आम बोल चाल की भाषा में राहुल का प्रपोजल एक्सेप्ट कर लिया। राहुल अगर थोड़ी देर ओर करता तो ट्रैफिक पुलिस उसे जेल भेज देती।

रात हो चुकी है दोनो रुचि के होस्टल के नीचे खड़े है होस्टल की देख रेख करने वाली वार्डन 5 बार रुचि को अंदर जाने की कह चुकी है। बिल्कुल मन नही है लेकिन दोनों का वहां से जाने का,कदम आगे नही बढ़ते अगर एक या दो कदम हिम्मत भी कर ले तो दिल उन्हें वापस ले आता है।

लेकिन घड़ी ने तो अब डेट ही बदल दी| रात के 12 बज गए दोनो को वापस जाना पड़ा। क्या हो रहा है ये इतनी बेचैनी कैसे? जो चाहता था वो मिल तो गया लेकिन पीछे क्या छूट रहा है अभी 30 मिनट भी नही हुई रुचि के पास से वापस आये लेकिन ऐसा लग रहा है जैसे कई दिन हो गए हैं उससे मिले।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

ये भीड़ भाड़ लोगो का शोर उनकी आवाज़ आज अच्छी नही लग रही थी।लेकिन अच्छा भी लग रहा है कभी सोचा भी नही था किसी के लिए ऐसी फीलिंग आएगी दोनो बहुत खुश थे। ऐसे उन्हें रहना भी चाहिए था लेकिन ऐसा होता कहाँ है।

हर चीज़ के कुछ पड़ाव होते हैं वैसे ही प्यार के भी हैं कुछ दिन साथ रह कर जुनून पागलपन सा आ जाता है। ये दोनों भी लगभग एक महीने बहुत अच्छे से रहे लेकिन एक छोटी सी बात ने रुचि को बदल कर रख दिया।

शाम का समय है अचानक सड़क पर टहलते हुए राहुल ने कहा रुचि मैं तुम्हारे साथ ये सब टाइम पास के लिए नही रह रहा हूं मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ। कुछ देर की खामोशी के बाद राहुल ने फिर पूछा तुम तैयार हो? रुचि ने कहा अगर तुम शादी करना चाहते हो तो तुम्हे घर वालो से बात करनी होगी। ये बात जिनती साधारण लग रही थी उतनी थी नही ये बात सिर्फ और सिर्फ रुचि ही जानती।

राहुल बहुत खुश था लेकिन रुचि अंदर से उखड़ चुकी थी। जब साथ रहो तो सामने वाले कि फीलिंग्स का भी पता चल जाता है। पिछले कुछ दिनों से रुचि का ध्यान कहीं और है वो कुछ परेशान सी है,उसका फोन भी अक्सर बिजी जाता है। राहुल उससे पूछता भी है कि क्या हुआ पर उसका जवाब हमेशा यही रहता है कि घर मे बात कर रही थी। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

एक शाम जब जो मिले तो रुचि लगातार मैसेज में किसी से बात रही उसका ध्यान राहुल और उसकी बातों पर बिल्कुल नही था। रुचि की बातों से अक्सर वो कहीं और रहती। यहां से प्यार की एक ओर स्टेज शुरू होता है ट्रस्ट या भरोसा ।

इस ट्रस्ट ने बहुत रिलेशन खराब किये थे जब भरोसा जाता है तो शक उसकी जगह ले लेता है और इस शक का कोई इलाज भी नही होता। ये मानना तो राहुल का ही था लेकिन वह एक और बात अच्छे से जनता था कि जो दिल को पहली बार लगता है वो ही सही होता है बाकी सब तो हम अपने दिल को मनाने के लिए कहानियां बनाते है और हकीकत से भागते हैं।

राहुल को लग रहा था कि रुचि की ज़िन्दगी में कोई और भी है। उसने बहुत बार कोशिश की शक न करे लेकिन जब रात को 3 बजे रुचि का फ़ोन बिजी आया तो वह समझ चुका था। अब दोनों के रिश्ते से भरोसा जाता हुआ दिखाई दे रहा था। राहुल ने अपनी दोस्त नेहा की मदद ली उसे सारी बात बताई। नेहा रुचि की रूम मेट थी।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

उसके लिए ये पता करना मुश्किल नही था कि रुचि बात किससे करती है। उसने राहुल को बताया कि कोई अभिषेक नाम का लड़का है जिससे रुचि बात करती है। राहुल अंदर से पूरी तरह टूट चुका था। ये चीज़ अब उसका गुस्सा बन कर बाहर आने लगी। रुचि ने उससे झूठ कहा,उसे धोखा दिया, क्या वो ऐसी लड़की है जो दो लोगो के साथ रिलेशन रखे।

उसने रुचि से सीधे पूछना चाहा लेकिन रुचि ने इस बात तो टाल दिया। वह इस बारे में राहुल से बात करना ही नही चाह रही थी। ये बात एक बड़ी लड़ाई में बदल गई राहुल ने जोर से सारा गुस्सा रुचि पर निकल दिया। दोनो वपास अपने होस्टल चले गए। वहां पहुच कर राहुल को लगा उसने कुछ ज्यादा ही बोल दिया। उसने सॉरी बोलने के लिए रुचि को फ़ोन किया सिर्फ सॉरी से ही बात खत्म नही होती।

अगले दिन सुबह राहुल को पता चला रुचि हॉस्पिटल में है अचानक उसकी तबियत खराब हो गई। राहुल भागते हुए वहां पहुँचा एक दिन पूरा वह रुचि के पास बैठा रहा उसने रुचि के घर मे भी बता दिया कि रुचि बीमार है। आज राहुल को ऑफिस में जरूरी काम था इसीलिए वो सुबह हॉस्पिटल में नही था आज रुचि के पेरेंट्स भी आ रहे थे। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

वह जब अपना काम खत्म कर हॉस्पिटल पहुँच तो देखा रुचि के मम्मी पापा बाहर बैठे हैं वे लोग एक दूसरे को जानते भी नही थे इसीलिए राहुल अंदर चला गया। जैसे ही वो अंदर पहुँच उसने देखा अभिषेक जिससे रुचि बात किया करती थी वह रुचि के पास उसके साथ हाथ पकड़ कर बैठा है और रुचि उससे कुछ बात कर रही थी।

कुछ समय के लिए राहुल को लगा कि वही अपना रिलेशन खत्म कर वापस आ जाये लेकिन वह चुप रहा रुचि ने देख लिया कि राहुल वहां पर खड़ा हुआ है। राहुल चुप चाप वापस चला गया। उसने रुचि के फ़ोन उठाना भी बन्द कर दिया। रुचि का एक मैसेज पढ़ा मम्मी पापा मुझे घर ले जा रहे हैं। मेरी लीव भी सैंक्शन हो गई है। 10 दिन बाद वापस आऊंगी।

करीब 5 दिन दोनो की बात बन्द रही। राहुल ने रुचि को ब्लॉक कर दिया था। आज एक मेल आया। राहुल तुम सही थे तुम्हारा शक भी। अभिषेक पिछले 5 साल से मेरी ज़िंदगी मे है मेरे कॉलेज के 1 ईयर से ही वह मुझे पसंद करता था लेकिन वो मुझे पसंद नही था वो मेरे पापा के एक दोस्त का लड़का है। मेरे मना करने पर उसने एक दिन आत्महत्या करने की भी कोशिश की फिर उसकी मम्मी का फ़ोन मेरे पास आया मैं हॉस्पिटल में गई भी थी उससे मिलने फिर ये बात घर पर भी पता चल गई।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

घर मे ओर दोस्त सब मुझे कहने लगे कि हाँ कर दो अच्छा लड़का है धीरे धीरे अच्छा लगने लगेगा। उसकी ज़िद के कारण मैंने हाँ कर दी। लेकिन मैं उसे कभी पसंद ही नही कर पाई। अधूरे मन से ही उसके साथ थी वो भी एक डर के कारण। ये बात उसे बुरी लगनी शुरू हो गई और उसने मुझे पर पाबंदियां लगानी शुरू कर दी घर मे भी मैं बता नही पा रही थी कि मुझे उसके साथ नही रहना।

उसका पागलपन इतना था कि वो मेरे सोने से लेकर उठने तक हर चीज़ में दखल देने लगा।वो मुझे जॉब के लिए भी आने नही दे रहा था। बड़ी मुश्किल से मैं यहां आई और तुम मुझे मिले मैं सिर्फ तुम्हारे साथ रहना चाहती हूँ और जब हम साथ आये ओर तुमने शादी के लिए कहा तो मैं सोच में पड़ गई कि आगे कैसे ठीक करूंगी। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

एक तरह मैं खुश भी थी तो दूसरी तरफ टेन्शन से मेरी जान निकल रही थी। मैं ना घर मे बता सकती हूं न तुमसे अलग हो सकती हूं। आगे क्या करूंगी ये भी नही पता।

ये पढ़ कर राहुल को रुचि सही भी लगी। लेकिन राहुल कुछ समझ ही नही पा रहा था जो उसके साथ हुआ वो भी गलत था। लेकिन उसने अपने प्यार को दूसरा मौका दिया।

कुछ दिनों बाद रुचि वापस आई रुचि की परेशानी कम नही हुई थी। राहुल ने रुचि को समझाया तुम्हे हिम्मत करनी पड़ेगी अभिषेक को सब सच बताओ बाकी जो होगा मैं सम्भाल लूंगा। रुचि एक उसी समय फोन और अभिषेक को सब कुछ बता दिया और अपने घर मे भी सारी बातें बताई की किस तरह अभिषेक उसे परेशान किया करता था। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

परिवार ने तो रुचि का साथ दिया लेकिन अभिषेक समझने को तैयार नही था| ये काम राहुल ने बहुत अच्छे से किया।अभिषेक बंगलौर आ कर रुचि से मिलना चाहता था।लेकिन राहुल ने उसे बहुत अच्छे से समझाया कहा अगर वो तुम्हारे साथ नही रहना चाहती तो जबर्दस्ती कर भी एक रिश्ते को कितनी दूर ले जा सकते हो अगर कोई तुम्हारे साथ चले तो लंबा सफर भी तय हो सकता है लेकिन घसीट कर बस बच्चो को स्कूल छोड़ा जा सकता है किसी को पूरी ज़िंदगी नही चलाया जा सकता।

अभिषेक को बात समझ आई। अभिषेक तो समझ गया था लेकिन उसका दिल नही समझ पा रहा था जब भी उसका फ़ोन रुचि के पास आता राहुल लाइन पर आ कर सब संभाल लेता। धीरे-धीरे अभिषेक दोनो की ज़िंदगी से दूर जा चुका था।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

रुचि ओर राहुल दोनो फिर साथ थे लेकिन एक दूरी आ गई थी दोनो के बीच एक  बार अगर दरार आ जाये तो उसे भरना बहुत मुश्किल होता है। राहुल कुछ बदल गया था रुचि ने मजबूरी में ही सही लेकिन उसे धोखा दिया ये बात भुला पाना उसके लिए मुश्किल हो रहा था। शक उसके दिमाक में जगह बना चुका था। अब वह रुचि को अपनी निगरानी में रखने लगा वो कहाँ जाती है किससे बात करती है हर जानकारी उसके लिए जरूरी थी।

रुचि को ऐसा लग जैसे वह एक पिंजरे से निकल कर दूसरे में चली गई। इनके रिश्ते की सबसे बड़ी कमी थी राहुल से सोच रहा था उसने रुचि का साथ दे एक अहसान किया है उस पर दूसरी तरफ रुचि को ये अहसास भी नही था कि राहुल बदला क्यूँ है।जैसे जैसे वक्त निकला दोनो एक दूसरे से दूर जा चुके थे।

रुचि की कंपनी से उसका प्रोमोशन आर्डर था लेकिन उसे पुणे जाना था। रुचि ने सोचा वह प्रोमोशन छोड़ देगी। उसी रात राहुल ने जब फोन किया तो रुचि का फ़ोन बिजी था लेकिन इस बार रुचि की मम्मी का फोन था रुचि ये बात कर रही थी कि उसे शादी राहुल से करनी है।

जैसे ही राहुल ने रुचि से बात की वह जोर से रुचि पर चिल्लाने लगा उसे कुछ पुराने दिन याद आ गए थे जब रुचि अभिषेक से बात किया करती थी। राहुल के गुस्से पर रुचि से भी नही रहा गया उसने भी अपना सारा गुस्सा उसी समय राहुल पर निकाल दिया।

राहुल ने कहा दिया मैं नही रह सकता अब तुम्हारे साथ मुझे नही लगता कि ये रिश्ता अब आगे जाएगा। जवाब भी वही आया ठीक है ऐसे रिश्ते को आगे बढ़ाने से अच्छा है इसे अभी खत्म कर दो।दोनो की तरफ से फोन कट गया । राहुल उसी रात अपने घर चला गया और फोन भी बन्द कर दिया। रुचि ने भी फोन करने की कोशिश नही की और पुणे चली गई। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

जब राहुल घर से वापस आया तो उसे पता चला कि रुचि जा चुकी है पता नही कहाँ उसका नंबर भी बंद है। राहुल के लिए कुछ दिन निकालना तो आसान था लेकिन जैसे जैसे समय निकला उसका नॉर्मल रहना बहुत मुश्किल था। नशे में रहना कहीं भी खोए रहना बस ऐसी हालत थी उसकी। उसके पुराने दोस्त राहुल के ये हालात देख नही पा रहे थे वो सब कोशिश कर रहे थे राहुल पहले जैसे हो जाये।

आज कुछ लोग राहुल के पास आये कहा कहीं नौकरी हो तो प्लीज बताओ| राहुल ने कहा बैंगलोर में रोज़ कैंपस आते है आप लोग जाओ वहाँ, उन्होंने पूछा लेकिन पता कैसे चलेगा? राहुल ने कहा अब ये मैसेज का ग्रुप का चलन बन्द हो गया क्या? वहां खड़े दोस्तो ने कहा कोई है ही नही इतने लोगो को संभालने वाला। राहुल ने फिर कोशिश की लोगो को जोड़ने की। Most Romantic Love Story in Hindi-उलझे रिश्ते

आज बहुत दिनों बाद सीसीडी के सामने वही माहौल है। राहुल उन सभी के बीच बैठा है एक दोस्त की नौकरी के लिए राहुल ने उसकी मदद की थी वही राहुल के पास आया और कहा थैंक्स यार तेरा ये अहसान रहेगा भाई। राहुल ने कहा अरे भाई दोस्ती में कैसा अहसान। वहीं नेहा ने राहुल से पूछ लिया जब दोस्ती में अहसान नही हो सकता तो प्यार में कैसा अहसान किया तुमने।

राहुल समझ गया कि नेहा क्या कहना चाहती है। एक कमरे में बैठा राहुल यही सोच रहा था रुचि ने सब कुछ बता दिया था, जैसा मैंने कहा वैसे ही किया गलती मेरी ही थी,मैं जानता ही था कि शक बुरी चीज है फिर भी अपने पर भारी होने दिया। अपने ईगो के कारण मैंने अपने प्यार को छोड़ दिया।लेकिन अब क्या फायदा रुचि पता नही कहाँ है कैसी है|

1 साल हो गए उसे गए। इसी तरह समय निकलता रहा अब राहुल 27 साल का है और बैंगलोर में होस्टल में नही रहता एक फ्लैट है उसका, उम्र के साथ वो समझदार भी गया। लेकिन शादी के नाम से भाग रहा है रुचि को वो अब तक नही भूल पाया।

यहाँ पुणे में रुचि के रिश्ते की बात चल रही है। रुचि ओर उस लड़के को साथ मे बैठाया गया एक दूसरे को समझ कर बात करने। रुचि ने सोचा इस बार मैं कुछ नही छिपाना चाहती। उसने कहा मैं अपने बारे में आपको कुछ बताना चाहती हूं। लड़के ने बीच मे ही टोका ओर कहा पास्ट सबका होता है वो मुझे नही जानना लेकिन शादी के बाद से सब हमारे बीच नही आना चाहिए।

आप पढ़ रहें हैं कहानी Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

अगर मैं शादी के बाद भी उनसे बात करूँ तो? रुचि ने पूछा । जवाब मिला अगर मुझे पता रहे कि तुम क्या बात कर रही हो किससे बात कर रही हो तो मुझे फर्क नही पड़ेगा। लेकिन हां अगर ऐसा कुछ मुझे कहीं और से पता चला तो हमारा रिश्ता नही चल पायेगा ओर ये बात हम दोनों पर लागू होती है बस तुम पर नही।

रुचि घर आई ये सारी बातें उसके दिमाक में घूम रही थी उसने सोचा अगर राहुल किसी और के साथ होता तो मैं उसे दूसरा मौका ही नही देती। कितना बुरा लगता है जब ये पता चले कि आपका साथी किसी ओर के साथ भी है।

मैंने राहुल को एक बार इस गलती के लिए सॉरी तक नही बोला ये भी नही कहा कि भरोसा रखो दुबारा नही होगा। अगर राहुल का भरोसा टूट चुका था तो मैंने वापस लाने की कोशिश भी नही की। सोचते हुए रुचि को अपनी गलती का अहसास हुआ उसने सोचा राहुल कहाँ होगा कैसा होगा।

बैंगलोर के सीसीडी के सामने राहुल आज फिर बैठा हुआ है। उसने देखा सामने से नेहा के साथ फिर एक चेहरा आ रहा है उसकी नज़र उस चेहरे से हट नही पा रही थी।राहुल को इस बार यकीन नही था कि ये रुचि है। सबसे पहले रुचि ने राहुल को सॉरी कहा और अपनी गलती के लिए भी माफी मांगी।

राहुल ने भी सॉरी कहा दोनो चुप थे।जो बात अपनी गलतियों की 3 साल से अंदर दबाए बैठे थे उसके लिए माफी मांगी रुचि ने एक रोज़ निकाला और कहा राहुल मुझसे शादी करोगे राहुल चुप था। रुचि वही घुटने के बल बैठ गई और कहा जब तक रोज़ एक्सेप्ट नही करोगे उठूंगी नही।

उसके बाद दोनों हमेशा एक साथ रहे दोनो समझ गए थे कि इन उलझे रिश्तों की देखभाल कैसे की जाती है।

Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते

नटेश्वर कमलेश

चांदामेटा छिंदवाड़ा


साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस hindishortstories2017@gmail.com पर अवश्य लिखें!

दोस्तों! आपको “Most Romantic Love Story in Hindi – उलझे रिश्ते” हमारी यह कहानी कैसी लगी हमें कमेंट में ज़रूर लिखे| और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें!

यह भी पढ़ें:-  

बारिश में भीगते हुए प्रेम की कहानी – बरसात 

सच्ची घटने पर आधारित एक प्रेम कहानी – मुस्कराहट 
स्कूल वाला प्यार – हिंदी कहानी पहला प्यार 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *