Top 10 Birla Mandir in India | भारत के 10 प्रसिद्ध बिरला मंदिर

Birla Mandir
Share with your friends

साथियों नमस्कार, आपने कई बार आपके आस-पास बिरला मंदिर (Birla Mandir) के बारे में सुना होगा| लेकिन क्या आपको पता है की पुरे भारत में कई फेमस बिरला मंदिर है जो की देश-विदेश में अपनी अद्भुत बनावट के कारण प्रसिद्ध है|

आज हम खास तौर पर आपके लिए लेकर आएं हैं भारत के 10 सबसे बड़े और सबसे प्रसिद्द बिरला जिनके बारे में जानकर आपको भारतीय संस्कृति और समाज पर गर्व महसूस होगा|


Top 10 Birla Mandir | भारत के 10 प्रसिद्ध बिरला मंदिर

भारत देश विभिन्न मंदिरों का देश है। जहां पर कई प्रकार के मंदिर व तीर्थ स्थल है। इनमें से कुछ मंदिर ऐसे हैं, जिनका निर्माण भारत के सुप्रसिद्ध ब्रांड बिरला ग्रुप के द्वारा करवाया गया है। इसलिए इन मंदिरों को बिरला मंदिरों के नाम से जाना जाता है। जो भारत देश के विभिन्न राज्यों में स्थित है। जिनकी सुंदरता व वास्तुकला देखने योग्य है। यह मंदिर अलग-अलग हिंदू देवताओं को समर्पित है।

1. लक्ष्मीनारायण मंदिर दिल्ली | Birla Mandir Delhi

Birla Mandir Delhi
Birla Mandir Delhi

बिरला परिवार ने सर्वप्रथम राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लक्ष्मीनारायण मंदिर का निर्माण सन् 1939 में करवाया। यह मंदिर प्रभु श्री हरि विष्णु व देवी लक्ष्मी को समर्पित है। इस मंदिर की बनावट अत्यंत सुंदर तरीके से की गई है।

यह मंदिर अपने निर्माण वर्ष से आज तक पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। इस मंदिर की वास्तविक सुन्दरता यहाँ पहुंचने के बाद ही पता चलती है। मंदिर सुबह 4:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक खुला रहता है। और दोपहर 2:30 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक भी आप यहां दर्शन कर सकते हैं।

मंदिर के भीतर फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी की अनुमति नहीं है। मंदिर में प्रवेश के लिए कोई शुल्क भी नहीं लगता है। मंदिर प्रांगण में तीन और मंदिर हैं, जो भगवान शिव, भगवान कृष्ण और गौतम बुद्ध को समर्पित है। इस मंदिर का करीबी मेट्रो स्टेशन आर. के. आश्रम मार्ग मेट्रो स्टेशन है। जो इस मंदिर से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर है। अाप बस, टैक्सी या ऑटोरिक्शा से भी मंदिर तक पहुंच सकते हैं।


2. बिरला मंदिर कोलकत्ता | Birla Mandir Kolkata

Birla Mandir Kolkata
Birla Mandir Kolkata

भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के कोलकत्ता शहर का प्रसिद्ध बिरला मंदिर शहर के सभी मंदिरों में प्रमुख हैं। जहाँ क वास्तु कला व शिल्पकला, कला का एक आदर्श उदाहरण है।

यह मंदिर अत्यंत भव्य तथा दिव्य हैं। इस मंदिर की नींव सन् 1970 में रखी गई। इस मंदिर का निर्माण कार्य वर्ष 1996 में पूर्ण हुआ। मंदिर निर्माण में सफेद संगमरमर व बलुआ पत्थर का प्रयोग किया गया है। यह मंदिर भगवान श्रीकृष्ण और देवी राधा को समर्पित है।

देश-विदेश से पर्यटक यहां अपनी भक्ति प्रकट करने आते हैं। विशेषकर जन्माष्टमी के अवसर पर मंदिर को सुन्दर तरीके से सुसज्जित किया जाता है। तब इस मंदिर का नजारा देखने योग्य होता हैं।

मंदिर खुलने का समय सुबह 5:30 बजे से 11:00 बजे तक है। तथा शाम को 4:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक भी यह मंदिर खुला रहता है। मंदिर में प्रवेश का कोई शुल्क नहीं लगता हैं।

यहां का भक्ति पूर्ण वातावरण मन को शांति तो प्रदान करता ही है, साथ ही यहां की वास्तुकला देख हमारा मन प्रसन्न हो जाता है, और हमारे कला ज्ञान में वृद्धि होती है। यह मंदिर कोलकत्ता के बालगंज में स्थित है।


3. जे के मंदिर कानपुर | JK Temple Kanpur

JK Temple Kanpur
JK Temple Kanpur

यह मंदिर कानपुर के लाजपत नगर में स्थित है। जो कि बिरला ग्रुप द्वारा ही बनवाया गया है। कानपुर शहर कि शान के रूप में जाना जाने वाला यह मंदिर कानपुर में जे के मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है।

इस मंदिर का निर्माण सन् 1941 से 1960 तक चला। यह मंदिर राधा कृष्ण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। भगवान श्रीकृष्ण और राधा रानी को समर्पित यह मंदिर भव्य कलाकृति से पूर्ण हैं। मंदिर प्रांगण हरियाली से परिपूर्ण हैं। चारों ओर हरा भरा वातावरण व पेड़ पौधे हैं।

मंदिर भ्रमण का समय सुबह 8:00 से 12:00 बजे तक तथा शाम को 4:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक है। जन्माष्टमी का त्योहार मंदिर में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। बिरला परिवार द्वारा बनाए गए भव्य मंदिरों में कानपुर का जे के मंदिर भी प्रमुख है।


4. बिरला मंदिर हैदराबाद | Birla Mandir Hyderabad

Birla Mandir Hyderabad
Birla Mandir Hyderabad

भारत के तेलंगाना राज्य के हैदराबाद शहर के अंबेडकर नगर में स्थित बिरला मंदिर सुंदर कलाकृति का प्रतीक हैं। संगमरमर से बने इस विशाल मंदिर को वेंकटेश्वर मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

इस मंदिर का निर्माण 1976 में पूर्ण हुआ। यह मंदिर 280 फीट ऊंचे नौबत पहाड़ पर बना हुआ है। मंदिर लगभग 13 एकड़ में फैला हुआ है।

इस मंदिर के निर्माण में लगभग 10 साल लगे। ऊंची पहाड़ी पर बना यह मंदिर अद्भुत सौन्दर्य से परिपूर्ण हैं। मंदिर प्रांगण से देखने पर हैदराबाद शहर काफी खूबसूरत दिखाई देता है। मंदिर में भगवान वेंकटेश्वर की 11 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित है।

मंदिर परिसर में देवी पद्मावती का मंदिर भी है। साथ ही शिव, शक्ति, गणेश, सरस्वती, ब्रह्मा, लक्ष्मी आदि की प्रतिमाएँ स्थापित हैं। मंदिर खुलने का समय सुबह 7:00 से 12:00 बजे तक व दोपहर 2:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक का है। मंदिर अत्यंत ही दिव्य है। और पर्यटन के लिए एक सुंदर स्थान है।


5. बिरला मंदिर जयपुर | Birla Mandir Jaipur

Birla Mandir Jaipur
Birla Mandir Jaipur

भारत के राजस्थान राज्य के जयपुर नगर के जे एल एन मार्ग पर स्थित बिरला मंदिर ऊँची जगह पर बना है। सफेद संगमरमर से बना यह मंदिर दूर से ही पर्यटकों को आकर्षित करता है।

जयपुर के बिरला मंदिर को लक्ष्मीनारायण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। जयपुर का यह बिरला मंदिर सुबह 6:00 बजे से 12:00 बजे तक और दोपहर 3:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक खुला रहता है।

जयपुर का यह मंदिर देश के विभिन्न बिरला मंदिरों में से एक हैं।जिसका निर्माण 1985 से 1988 के मध्य हुआ। संगमरमर से बना यह मंदिर अत्यंत सुंदर व भव्य हैं।

मंदिर की दीवारों पर ऐतिहासिक व पौंराणिक घटनाओं का चित्रात्मक उल्लेख है। मंदिर तक पहुंचने के लिए टैक्सी व आटो सुविधा उपलब्ध है। मंदिर सप्ताह के हर बुधवार बंद रहता है।


6. बिरला मंदिर कुरुक्षेत्र | Birla Mandir Kurukshetra

Birla Mandir Kurukshetra
Birla Mandir Kurukshetra

भारत के हरियाणा राज्य के कुरुक्षेत्र शहर में बिरला परिवार द्वारा बनवाया गया एक मंदिर है। जो कि भगवान श्रीकृष्ण को समर्पित है। इस मंदिर का निर्माण वर्ष 1952 में हुआ। चूँकि यह मंदिर श्रीकृष्ण को समर्पित है, इसलिए यहां जन्माष्टमी का त्यौहार बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है।

यह मंदिर कुरुक्षेत्र के प्रमुख आकर्षणों में से एक है। कुरूक्षेत्र का यह मंदिर पूरी तरह से संगमरमर का बना है। मुख्य मंदिर परिसर में भगवान कृष्ण का चित्र सात घोड़ों के रथ पर सारथी बने दर्शाया गया है। मंदिर परिसर के पीछे वाला भाग हरियाली से परिपूर्ण है।

कुरुक्षेत्र का यह मंदिर उसी स्थान पर बना है, जहां भगवान कृष्ण ने अर्जुन को गीता ज्ञान प्रदान किया था। इस मंदिर की दीवारों पर भगवत गीता के श्लोकों हो अंकित किया गया है। मंदिर का निर्माण बेहद सुंदर तरीके से किया गया है।


7. बिरला मंदिर पटना | Birla Mandir Patna

Birla Mandir Patna
Birla Mandir Patna

भारत के बिहार राज्य के पटना शहर में स्थित बिरला मंदिर जगत पिता नारायण व देवी लक्ष्मी को समर्पित है। इस मंदिर को लक्ष्मीनारायण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

यह मंदिर लगभग 80 साल पुराना मंदिर है। और पटना के प्राचीन मंदिरों में सबसे सुंदर है। जहां देश-विदेश से पर्यटक घूमने आते हैं। यह मंदिर पटना शहर के बीचोबीच स्थित है।

मंदिर के चारों और बना हरा भरा गार्डन मंदिर की सुंदरता को और बढ़ाता है। वर्षों से भक्तों की आस्था का प्रतीक रहा पटना का प्रसिद्ध बिरला मंदिर अत्यंत भव्य ईमारत है। जो प्राचीन वास्तुकला का उदाहरण भी है।


8. बिरला मंदिर वाराणसी | Birla Mandir Varanasi

Birla Mandir Varanasi
Birla Mandir Varanasi

भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के वाराणसी शहर में स्थित बिरला मंदिर काशी विश्वनाथ मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। जो कि वाराणसी के बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के परिसर में स्थित है।

इस विश्वविद्यालय की नींव मालवीय जी ने रखी थी। मार्च 1931 में बिरला परिवार ने काशी विश्वनाथ मंदिर की नींव रखी। मंदिर निर्माण में करीब 35 साल लगे। 1966 में मंदिर बनकर तैयार हो गया। इतने वर्षों के निर्माण के पश्चात मंदिर कितना भव्य व दिव्य बना होगा इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है।

मंदिर की वास्तविक सुंदरता मंदिर को देख कर ही पता चलती है। भगवान शिव को समर्पित यह मंदिर भारत के सबसे ऊंचे मंदिरों में से एक है। जिसकी ऊंचाई 77 मीटर है। इस एक मंदिर के अंदर कुल 9 मंदिर बने हुए हैं।

भूतल पर भगवान शिव का मंदिर तथा प्रथम तल पर लक्ष्मीनारायण मंदिर व दुर्गा मंदिर है। मंदिर खुलने का समय सुबह 4:00 से 12:00 बजे तक व दोपहर 1:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक का है।


9. बिरला मंदिर शाहाद, कल्याण | Birla Temple Shahad

Birla Temple Shahad
Birla Temple Shahad

भारत के महाराष्ट्र राज्य के मुंबई शहर से 54 किलोमीटर दूर शहर कल्याण में श्री रामेश्वर दास जी बिरला के द्वारा 2 फरवरी 1961 को स्थापित विशाल विठोबा मंदिर का निर्माण हुआ। जो बिरला मंदिर के नाम से भी प्रसिद्ध है।

इस मंदिर का उद्घाटन वर्ष 1967 में हुआ था। यह मंदिर मुख्य रूप से पत्थरों से तराशा गया है। मंदिर में कुल 5 प्रवेश द्वार है, जो संगमरमर से तराशे गए हैं। मंदिर में भगवान विठोबा व रुक्मिणी की मूर्ति स्थापित है। जो कि काले संगमरमर से बनाई गई है।

यह मूर्तियां पंढरपुर की मूर्तियों का प्रतिरूप है। मंदिर की दीवारों पर भगवान विष्णु के दशावतारों की मूर्तियां दर्शाई गई है। औंर साथ ही प्रभु नारायण व देवी लक्ष्मी की मूर्ति भी इस मंदिर में स्थापित हैं। मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वार पर बने दो बड़े हाथी यहां के प्रमुख आकर्षण का केन्द्र हैं।


10. बिरला मंदिर रेनुकूट | Birla Temple Renukoot

Birla Temple Renukoot
Birla Temple Renukoot

भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के रेनुकूट शहर में बिरला मंदिर स्थित है। जिसकी नींव वर्ष 1962 में स्वर्गीय श्री घनश्याम दास बिरला जी ने रखी। यह मंदिर रेणुकेश्वर महादेव मंदिर के नाम से भी प्रसिद्ध है।

मंदिर महादेव व देवी पार्वती को समर्पित हैं। मंदिर बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। मंदिर परिसर हरियाली से परिपूर्ण है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर कलाकारी से बनाया गया है।

मंदिर का मुख्य आकर्षण यहां पर बना कृत्रिम झरना है, जो दूर से देखने पर पानी से बनें शिवलिंग जैसे प्रतीत होता है। भारत में बने सभी बिरला मंदिरों में यह मंदिर भी प्रमुख हैं।

मंदिर खुलने का समय सुबह 5:00 से 10:30 बजे तक तथा शाम 4:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक रहता है। मंदिर वर्षों से शिव भक्तों के लिए आस्था का केंद्र रहा है।


साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस hindishortstories2017@gmail.com पर अवश्य लिखें!

दोस्तों! आपको “Top 10 Birla Mandir in India | भारत के 10 प्रसिद्ध बिरला मंदिर” हमारा यह संकलन कैसा लगा हमें कमेंट में ज़रूर लिखे| और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें!

यह भी पढ़ें:-

जाने! मध्यप्रदेश के हिल स्टेशन पंचमड़ी में घुमने की 10 शानदार जगहों के बारे में
राजा भोज की नगरी भोपाल और 10 शानदार जगहें!

Share with your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *