10 Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान

Best Places to Visit in Indore

सहियों नमस्कार, Hindi Short Stories के खास अंक “यात्रा वृतांत” में आपका स्वागत है| आज के इस खास संकलन में हम बात करेंगे भारत के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर के बारे में| तो आइये आपको ले चलते हैं इंदौर शहर…


Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान

इंदौर, भारत के मध्य प्रदेश राज्य का एक जिला है। जो कि प्रदेश का सबसे बड़ा शहर है। इंदौर, मध्य प्रदेश की वाणिज्यिक राजधानी भी कहलाता है। इंदौर नगरी व्यवसाय और शिक्षा के साथ-साथ पर्यटन के लिए भी जानी जाती है।

अगर व्यवसायिक दृष्टि से देखा जाए तो यहां लगभग 5000 से अधिक छोटे-बड़े उद्योग है। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में 400 से अधिक उद्योग है। और इनमें 100 से अधिक अंतरराष्ट्रीय सहयोग के उद्योग हैं। भारत का तीसरा सबसे पुराना शेयर बाजार “मध्य प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज” इंदौर में ही स्थित है।

औद्योगिक नगरी होने के साथ-साथ इंदौर शिक्षा की दृष्टि से भी उभरा हुआ शहर है। यह देश का एकमात्र शहर है जहां भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम इंदौर) व भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी इंदौर) दोनों स्थापित है।

इंदौर स्वच्छ भारत सर्वेक्षण के तहत भारत का सबसे स्वच्छ नगर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “स्मार्ट सिटी मिशन” में भारत के 100 शहरों को शामिल किया गया है। जिसमें इंदौर शहर भी शामिल है।

यह बात हुई इंदौर की औद्योगिक व शैक्षणिक महत्ता की। किंतु यदि पर्यटन के लिए देखा जाए तो इंदौर आकर्षण का केंद्र है। यहां शहर में स्थित राजवाड़ा, कांच मंदिर, नाहर शाह वली दरगाह, कृष्णपुरा की छतरी, खजराना मंदिर आदि देखने योग्य हैं। साथ ही शहर से बाहर स्थित महेश्वर, मांडव गढ़ या मांडू, पातालपानी झरना आदि भी पर्यटन के लिए उचित स्थान है।

इंदौर पहुंचने के लिए हवाई मार्ग, रेल मार्ग व सड़क मार्ग तीनों ही मार्ग उपलब्ध है। इंदौर में देवी अहिल्या बाई होलकर हवाई अड्डा स्थित है। जो कि देश के विभिन्न शहरों से नियमित फ्लाइट्स के रूप से जुड़ा है।

इंदौर का रेल मार्ग (ए-1) ग्रेड रेलवे स्टेशन है। इंदौर रेल मार्ग के द्वारा सीधे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, पुणे आदि प्रमुख शहरों से जुड़ा है। इंदौर शहर अपने चारों ओर के शहरों से सड़क मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

यहां से आगरा मुंबई राजमार्ग होकर गुजरता है। शहर के प्रमुख बस अड्डों में सरवटे बस स्टैंड है जो कि इंदौर रेलवे स्टेशन के पास स्थित है। गंगवाल बस स्टैंड, नवलखा बस स्टैंड आगरा मुंबई राजमार्ग पर स्थिति हैं। साथ ही शहर में स्थानीय यातायात के रूप में इंदौर सिटी बस व इंदौर बीआरटीएस (आई बस) जैसी सेवाएं भी उपलब्ध है।

आप पढ़ रहें हैं 10 Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान अब हम इंदौर व इंदौर के आसपास स्थित पर्यटन स्थलों के बारे में विस्तार से जानेंगे।

1. राजवाड़ा महल | Rajwada Indore

Best Places to Visit in Indore | Rajwada Indore
Best Places to Visit in Indore | Rajwada Indore

राजवाड़ा महल होलकर राजवंश के शासकों की ऐतिहासिक हवेली है। इस महल का निर्माण लगभग 200 साल पहले हुआ था। और आज तक यह महल पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण रखता है। यह इमारत शहर के बीचोंबीच स्थित है।

इस महल की वास्तुकला फ्रेंच, मराठा और मुगल शैली का मिश्रण है। एक महान तोरण महल के प्रवेश द्वार पर लगा है। लकड़ी और लोहे से निर्मित महल का प्रवेश द्वार यहां आने वाले पर्यटकों का स्वागत करता है।

बड़ी-बड़ी खिड़कियां, बालकनी और गलियारे होलकर शासकों और उनकी भव्यता का प्रमाण है। राजवाड़ा महल 7 मंजिला इमारत है। यह महल बेहद सुंदर व भव्य है। यह पूरा महल लकड़ी व पत्थरों से निर्मित है।

1984 के दंगों के समय इस में आग लग जाने से इसको बहुत क्षति हुई थी। उसके बाद कुछ सीमा तक इसको पुन:निर्मित किया गया। राजवाड़ा महल के समीप ही शहर का सबसे बड़ा बाजार लगता है। जहां हर वस्तु उपलब्ध होती है।

राजवाड़ा महल के पास हर वर्ष होली महोत्सव का आयोजन किया जाता है। यह होली महोत्सव शहर का सबसे बड़ा होली महोत्सव होता है। जिसमें बड़ी संख्या में शहरवासी आते हैं।

इंदौर एयरपोर्ट से राजवाड़ा महल की दूरी लगभग 9 किलोमीटर है और इंदौर बस स्टैंड से राजवाड़ा महल की दूरी 2 किलोमीटर है। साथ ही रेलवे स्टेशन से दूरी लगभग 2 ही किलोमीटर है। राजवाड़ा महल जो इंदौर की पुश्तैनी धरोहर है। आज भी पर्यटन स्थल के रूप में जानी जाती है। इंदौर आने वाले हर व्यक्ति को राजवाड़ा घूमने जरूर जाना चाहिए।

2. काँच मंदिर | Kanch Mandir Indore

Best Places to Visit in Indore | Kanch Mandir Indore
Best Places to Visit in Indore | Kanch Mandir Indore

कांच मंदिर इंदौर के पर्यटन स्थलों में से एक है। कांच मंदिर के नाम से ही स्पष्ट होता हैं , कि यह मंदिर पूरी तरह से कांच का बना हुआ है। यह मंदिर सेठ हुकुमचंद द्वारा बनवाया गया था। इसलिए यह सेठ हुकुमचंद मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

यह एक दिगंबर जैन मंदिर है। व इस मंदिर के मध्य में श्री शांतिनाथ भगवान व उनके दाहिने हाथ की ओर श्री चंद्रप्रभा भगवान एवं बाँई और आदिनाथ भगवान विराजे हैं।

शांतिनाथ भगवान की मूर्ति काले पत्थर की बनी है। जिसे जयपुर में बनवाया गया। जिसमें अंदर सारा कार्य कांच का किया हुआ है। और यह कांच बेल्जियम से मंगाया गया था। व खंभे लाल पत्थर के हैं तथा दरवाजा लकड़ी का बना हुआ है और इस पर चांदी की परत लगाई गई है इस मंदिर में विशेष कारीगरी की गई है। जो कि ईरान और जयपुर के कारीगरों द्वारा की गई है।

इस मंदिर में की गई काँच की नक्काशी व कारीगरी के कारण यहां 3D प्रभाव आता है। मंदिर सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक आम जनता के लिए खुला रहता है।

‌‌कांच मंदिर इंदौर एयरपोर्ट से 8.7 किलोमीटर, रेलवे स्टेशन से लगभग 2.8 किलोमीटर तथा बस स्टैंड से लगभग 1 किलोमीटर है।
कांच मंदिर एक भव्य मंदिर है। जो कि काँच से बना हैं। यहां जैन धर्म की कहानियों के बारे में जानकारी मिलती है। इसलिए भी यह पर्यटकों को अधिक आकर्षित करता है।

आप पढ़ रहें हैं 10 Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान

3. नाहर शाह वली दरगाह | Nahar Shah Wali Dargah

Best Places to Visit in Indore | Nahar Shah Wali Dargah
Best Places to Visit in Indore | Nahar Shah Wali Dargah

मालवा के प्रसिद्ध हजरत नाहर शाह वली की दरगाह मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में खजराना नामक स्थान पर है। खजराना में हिंदू मुस्लिम एकता के प्रतीक दोनों धर्म के प्रसिद्ध ऐतिहासिक धर्म स्थल है।

आज से 350 साल पहले खजराना जंगल था। घने जंगल में एक ऊंचे टीले पर मुस्लिम संत इबादत करते थे। जंगली जानवर जैसे शेर वगैरह भी संत के पास आकर बैठ जाते। नाहर (शेर) को बैठा देख गांव के लोग संत को नाहर वाले बाबा पुकारते। इस तरह संत का नाम नाहर सा पड़ा।

मृत्यु के बाद नाहर शाह वली को इसी स्थान पर दफनाया गया। इसी स्थान पर बाद में दरगाह का निर्माण हुआ। नाहर शाह वली की मृत्यु के बाद उनके जनाजे की नमाज मुगल बादशाह औरंगजेब ने पढ़ाई।

नाहर शाह वली की दरगाह इंदौर के पर्यटन स्थलों में से एक है। राजा महाराजाओं से लेकर मशहूर फिल्म अभिनेता यहां आकर अपनी हाजिरी लगवा चुके हैं।

इंदौर एयरपोर्ट से नाहर शाह वली दरगाह की दूरी लगभग 20 किलोमीटर, इंदौर रेलवे स्टेशन से इसकी दूरी लगभग 6.6 किलोमीटर तथा इंदौर बस स्टैंड से दूरी लगभग 9.5 किलोमीटर है।
नाहर शाह वली की दरगाह पर पर्यटक अपनी मुराद मांगने व हाजिरी देने आते हैं।

4. कृष्णपुरा छतरियाँ | Krishnapura Chhatri Indore

Best Places to Visit in Indore | Krishnapura Chhatri Indore
Best Places to Visit in Indore | Krishnapura Chhatri Indore

कृष्ण पुरा छत्री इंदौर मध्य प्रदेश में एक ऐतिहासिक स्थल है। जो कि खान नदी के तट पर स्थित है। यह स्थल होलकर राजवंशों के सदस्यों की शाही कब्र का स्थान है। जिसके कारण इन्हें होलकर छत्रियों के रूप में भी जाना जाता है।

तीनों छतरियां राजवाड़ा के महल-शहर से आधा किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जिसे होलकर वंश द्वारा ही बनवाया गया था। छत्रियाँ कई अलग-अलग पत्थरों से बनी है। छतरियों की वास्तुकला अत्यंत सुंदर व आकर्षक हैं। रात में यह सभी छत्रियाँ रोशनी से जगमगा उठती है।

यहां की खूबसूरत संरचनाएं आज भी पर्यटकों को बहुत पसंद आती है। वैसे तो इन छत्रियों को बने वर्षों हो गए किंतु आज भी इनकी चमक व रौनक वैसी की वैसी है। आज भी हजारों की संख्या में पर्यटक यहां घूमने आते हैं। यहां के बागीचे की सुंदरता भी पर्यटकों को खूब भाती है।
मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड ने घोषणा की है, कि वह इंदौर के ऐतिहासिक स्थलों की पैदल यात्रा पर छत्रियों को शामिल करेगा।

आप पढ़ रहें हैं 10 Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान

5. लाल बाग पैलेस | Lal Bagh Palace

Best Places to Visit in Indore | Lal Bagh Palace
Best Places to Visit in Indore | Lal Bagh Palace

लालबाग महल इंदौर के सबसे शानदार महलों में से एक है। यह महल 3 मंजिला इमारत है। जो कि खान नदी के तट पर स्थित है। इस महल को महाराजा शिवाजी राव होल्कर ने बनवाया था। अर्थात यह महल होलकर राजवंश की धरोहर के रूप में यहां स्थित है। इस महल का प्रयोग होलकर शाही परिवार मेजबानी के लिए करता था।

लालबाग महल की वास्तुकला अत्यंत अनूँठी व आकर्षक है। इस महल में होलकर शासकों की जीवन शैली देखने को मिलती है। यहां की एक खासियत यह भी है, कि इस महल में भारत का सबसे सुंदर गुलाबो का बगीचा है।

महल का प्रवेश द्वार अत्यंत सुंदर है। इसकी खास बात यह है कि यह दरवाजा इंग्लैंड के बर्घिगम पैलेस की तरह ही बनाया गया है। यह दरवाजा बीड़ धातु का बना है। पूरे देश में इस दरवाजे की मरम्मत नहीं हो सकती‌‌। इसकी मरम्मत करवाने के लिए इस दरवाजे को इंग्लैंड ही ले जाना पड़ेगा।

महल के दरवाजों पर राजघराने की मुहर लगी हुई है। जिसका अर्थ है, “जो प्रयास करता है, वही सफल होता है”।
लालबाग महल को भारत और इटली के अन्य चित्रों व मूर्तियों से सजाया गया है। इस महल की दीवारों व छत पर नक्काशी बनी हुई है। लालबाग महल 28 एकड़ में फैला है। इस ऐतिहासिक धरोहर को देखने के लिए देश के कोने-कोने से पर्यटक आते हैं।


6. कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय | Kamla Nehru Prani Sangrahalaya Indore

Best Places to Visit in Indore | Kamla Nehru Prani Sangrahalaya Indore
Best Places to Visit in Indore | Kamla Nehru Prani Sangrahalaya Indore

कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय इंदौर चिड़ियाघर नवलखा इंदौर में स्थित एक प्राणी उद्यान है। जो की पूरी तरह से इंदौर नगर पालिका निगम के स्वामित्व में है। यह मध्य प्रदेश राज्य का सबसे बड़े प्राणी उद्यान व सबसे पुराने प्राणी उद्यान में से एक है। जो कि 4000 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला हुआ है।

कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय भारत के कुल 180 मान्यता प्राप्त चिड़ियाघर में से एक है। यहाँ अापको सफेद बाघ, रॉयल बंगाल टाइगर, हिमालयन भालू, व सफेद मोर देखने को मिलता है।

इंदौर चिड़ियाघर प्रजनन संरक्षण और प्रदर्शनी के जानवरों पौधों व उनके निवास के लिए एक केंद्र है। इंदौर चिड़ियाघर हरियाली से परिपूर्ण है यहां विभिन्न प्रकार के जानवर,पशु-पक्षी व पेड़ पौधे देखने को मिलते हैं। यहां का वातावरण भी अनुकूल है।

इंदौर चिड़ियाघर में पशु पक्षी पेड़ पौधे विभिन्न जानवरों के साथ-साथ एक अद्भुत सौन्दर्य देखने को मिलता हैं। प्रकृति का यह अद्भुत सौन्दर्य देखकर मन में शान्ति का अनुभव होता हैं।

आप पढ़ रहें हैं 10 Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान


7. पातालपानी जलप्रपात | Patalpani Indore

Patalpani Indore | Best Places to Visit in Indore
Patalpani Indore | Best Places to Visit in Indore

पातालपानी जलप्रपात मध्य प्रदेश के इंदौर जिले की महू तहसील में स्थित है। पातालपानी जलप्रपात एक विशाल जलप्रपात है। जिसकी ऊंचाई लगभग 300 फीट है। चोरल नदी पर बना यह जलप्रपात बहुत ही सुंदर और प्राकृतिक सौंदर्य से भरा है। इंदौर पातालपानी एक जाना माना पिकनिक स्थल व ट्रैकिंग का स्थान है।

यहां 300 फीट ऊंची पहाड़ी से पानी एक कुंड में गिरता है। कुंड की गहराई अभी तक अज्ञात हैं। कहा जाता है कि कुंड का पानी पाताल लोक तक जाता है। इसलिए इस स्थान का नाम पातालपानी रखा गया। वर्षा ऋतु के तुरंत बाद यहां का मौसम अत्यंत सुहावना हो जाता है। ठंड के मौसम में यह ट्रैकर्स को अपनी और आकर्षित करता है।

‌पातालपानी पहुंचने के लिए रेल मार्ग व सड़क मार्ग दोनों की व्यवस्था उपलब्ध है। यह इंदौर-खंडवा रेल मार्ग पर ही स्थित है। ट्रेन का ठहराव पाताल पानी स्टेशन ही है।

इंदौर से महू के लिए बस हर 15 मिनट में मिलती है। महू से पातालपानी की दूरी लगभग 6 किलोमीटर है।
पातालपानी का निकटतम हवाई अड्डा इंदौर का देवी अहिल्या बाई होलकर हवाई अड्डा हैं। जिससे पातालपानी की दूरी लगभग 26 किलोमीटर है।

पातालपानी जलप्रपात में एक सुन्दर प्राकृतिक दृश्य देखने को मिलता है। ऊंचाई से गिरता पानी दूध की धारा के समान दिखाई देता है। पानी से होकर गुजरती हवाएं जैसे ही शरीर को छुती है एक ठंडक का आभास होता है। जो वास्तव में अत्यंत सुखदायी होता है। पातालपानी जहां एक और अपने आप में अत्यंत सुंदरता लिए हुए हैं।

वहीं दूसरी ओर बारिश के मौसम में यहां का जलस्तर बढ़ जाने के कारण बाढ़ की संभावना होती है। जिससे यहां पर्यटकों को खतरा भी हो सकता है। यहां आकर पर्यटकों को उचित सावधानी रखने की आवश्यकता है। बारिश के मौसम के बाद ही यहां आना उचित होता हैं। प्रशासन की तरफ से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी यहां पर किए गए हैं। झरने के आसपास रैलिंग लगा दी गई है।


8. बड़ा गणपति | Bada Ganpati Indore

Bada Ganpati Indore | Best Places to Visit in Indore
Bada Ganpati Indore | Best Places to Visit in Indore

इंदौर के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में एक स्थान बड़ा गणपति नाम से भी है जहां गणेश जी की 25 फुट ऊंची मूर्ति स्थापित है। इस मंदिर का इतिहास एक सपने से जुड़ा है।

कहा जाता है कि मंदिर की आधारशिला के पीछे गणेश जी के अनन्य भक्त स्वर्गीय पंडित नारायण दाधीच के द्वारा देखा गया एक स्वप्न हैं। माना जाता है कि भगवान गणेश ने पंडित नारायण को ऐसी ही मूर्ति के रूप में दर्शन दिए थे। उसके बाद पंडित नारायण ने अपने सपने की गणेश प्रतिमा को साकार रूप देने की ठानी। इस घटना के बाद ही इस भव्य मंदिर का निर्माण किया जा सका।

इंदौर में स्थित बड़ा गणपति की प्रतिमा देश में सबसे बड़ी गणेश प्रतिमा है। मंदिर का निर्माण कार्य सन् 1901 में पंडित नारायण दाधीच द्वारा पूरा किया गया था। इस प्रतिमा के निर्माण में चूना, गुड़, रेत, मेथी दाना, मिट्टी, सोना, चांदी, लोहा, अष्टधातु, नवरत्न का उपयोग किया गया।

साथ ही प्रतिमा के निर्माण में सभी तीर्थ नदियों के जल का उपयोग किया गया है। मूर्ति 4 फीट ऊंचे चबूतरे पर विराजमान है। मूर्ति के निर्माण में करीब 3 साल लगे थे।

गणेश जी के श्रृंगार में करीब 8 दिन का समय लगता है। साल में 4 बार यहां चोला चढ़ाया जाता है। गणेश जी की विशाल प्रतिमा को देखने के लिए यूं तो साल भर ही भक्तगण यहां आते रहते हैं। किंतु गणेश उत्सव के दौरान यहां हजारों की संख्या में भक्त आते हैं।


9. गोमटगिरी तीर्थ | Gommatagiri Digambar Jain Temple

Gommatagiri Digambar Jain Temple | Best Places to Visit in Indore
Gommatagiri Digambar Jain Temple | Best Places to Visit in Indore

सन 1986 में 24 तीर्थकरो और भगवान बाहुबली की कमलासन पर विराजित प्रतिमा की स्थापना की गई। तभी से इस जैन तीर्थ को गोमटगिरी तीर्थ के रूप में जाना जाता है। इस तीर्थ को बनाने की प्रेरणा राष्ट्रसंत विद्यानंद जी ने दी थी।

बात सन 1979 की है मुनिराज श्रवणबेलगोला की ओर मंगल विहार कर रहे थे। तभी उन्हें देपालपुर रोड स्थित इस पहाड़ी पर भगवान बाहुबली के रूप का इल्म हुआ। 1981 में समाज जन दिवंगत दुलीचंद सेठी, शांतिलाल पाटनी और बाबूलाल पाटोदी नें आचार्य श्री के सानिध्य में इसे साकार करने का बीड़ा उठाया।

समाज जन ने 2 लाख रू. एकत्रित किए तब जाकर इस देश का निर्माण है।
जैन धर्म के अनेक जैन धर्मावलंबी इस तीर्थ के दर्शन के लिए आते हैं। और जैन धर्म को समझते हैं। पूरे तीर्थ क्षेत्र की रचना संपूर्ण जैन धर्म की कहानी बताता है।

इंदौर हवाई अड्डे से केवल 5 मिनट की दूरी पर यह तीर्थ क्षेत्र छोटी सी पहाड़ी पर स्थित है। यहां पर पर्यटक सूर्योदय और सूर्यास्त देखने के लिए भी आते हैं। गोमटगिरी तीर्थ स्थल में 24 संगमरमर मंदिर शामिल है।

जिनमें से प्रत्येक जैन धर्म के 24 तीर्थकरो को समर्पित है। गोमटगिरी तीर्थ स्थल का निर्माण पहाड़ी पर किया गया है। जिसे 1981 में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जैन समाज को दान में दिया गया था। रविवार को गोमटगिरी मंदिर के प्रसिद्ध “दाल-बाटी” को भोजनालय में भरोसा होता है।

गोमटगिरी तीर्थ स्थल इंदौर रेलवे स्टेशन से लगभग 15 किलोमीटर, व बस स्टैंड गंगवाल बस स्टैंड इंदौर से 10 किलोमीटर व सरवटे बस स्टैंड इंदौर से 14 किलोमीटर दूर स्थित है। गोमटगिरी तीर्थ स्थल जैन धर्म का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल माना जाता है। जिसकी सुंदरता अपने आप में भव्य हैं। जिसे देखने के लिए पर्यटक यहां आते हैं। और यहां के मंदिरों का दर्शन कर लाभ उठाते हैं।


10. केंद्रीय संग्रहालय (इंदौर म्यूजियम) | Central Museum , Indore

Central Museum Indore | Best Places to Visit in Indore
Central Museum Indore | Best Places to Visit in Indore

केंद्रीय संग्रहालय इंदौर की स्थापना 1923 में होलकर शासन की शिक्षा विभाग के अंतर्गत एक संस्था के रूप में हुई। जिसका नाम “नररत्न मंदिर” रखा गया। इस संस्था का मुख्य उद्देश्य महापुरुषों के चित्र, फोटो व उनके चरित्र से संबंधित दस्तावेजों को एकत्र करना था।

इस संस्था में एक वाचनालय भी था तथा तब यह एमजी रोड पर जहां वर्तमान में देवलालीकर वीथिका है, में संचालित होता था।
उक्त संस्था द्वारा जब वस्तुओं का संकलन किया जा रहा था। तो राज्य में यत्र तत्र बड़ी पुरावस्तुओं के संग्रह को देखकर इन्हें सुरक्षित रखे जाने के लिए संग्रहालय की स्थापना का निर्णय लिया गया तथा 1929 में इसी भवन में संग्रहालय की स्थापना की गई।

1975 में संग्रहालय में मुद्राओं का प्रदर्शन किया गया। जिसे देवी अहिल्या मुद्रा वीथिका नाम दिया गया। संग्रहालय खुलने का समय प्रातः 10:00 से शाम 5:00 बजे तक होता है। प्रत्येक सोमवार एवं शासकीय अवकाश के दिन संग्रहालय बंद रहता है।

संग्रहालय में भारतीय नागरिकों के लिए प्रवेश शुल्क ₹10 प्रति व्यक्ति है। और 15 वर्ष तक के बच्चों के लिए निशुल्क प्रवेश है। तथा विदेशी नागरिकों के लिए ₹100 प्रति व्यक्ति शुल्क हैं। संग्रहालय में फोटोग्राफी शुल्क ₹50 प्रति कैमरा व वीडियोग्राफी शुल्क ₹200 प्रति कैमरा है।

इंदौर का केंद्रीय संग्रहालय पुरातन की वस्तुओं तथा मूर्तियों का संकलन है। जिससे हमें इतिहास से जुड़ी जानकारी प्राप्त होती है। वर्तमान में संग्रहालय में कुल 8 दीर्घाऐं हैं इनमें कलाकृतियों का विषय वार प्रदर्शन किया गया है। इन दीर्घाओं के नाम निम्नानुसार है।

1. इंडेक्स दीर्घा एवं प्रदर्शन हॉल
2. पुरावस्तु वीथिका
3. अभिलेख वीथिका
4. मुद्रा वीथिका
5. इतावली एवं समकालीन कला वीथिका
6. अस्त्र-शस्त्र दीर्घा
7. समकालीन चित्रकला वीथिका

इस प्रकार इंदौर पर्यटन की दृष्टि से अत्यंत सुंदर व आकर्षक स्थान है। जहां व्यापार और शिक्षा के साथ-साथ पर्यटक स्थल भी है। कुछ पर्यटक स्थलों से हमें इतिहास के बारे में जानकारी मिलती हैं। तो कुछ पर्यटक स्थल प्राकृतिक सौंदर्य का प्रतीक है।

एक और ऐतिहासिक महल व हवेलियाँ पुरातन की धरोहर है। वहीं दूसरी ओर प्रकृति की हरियाली व शांतिपूर्ण वातावरण घूमने के लिए पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता हैं।

10 Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान

Narrated by – Aayushi Patel
patelayushi344@gmail.com


साथियों अगर आपके पास कोई भी रोचक जानकारी या कहानी, कविता हो तो हमें हमारे ईमेल एड्रेस hindishortstories2017@gmail.com पर अवश्य लिखें!

दोस्तों! आपको “Best Places to Visit in Indore | इंदौर में पर्यटन के लिए शीर्ष 10 स्थान” हमारा यह संकलन कैसा लगा हमें कमेंट में ज़रूर लिखे| और हमारा फेसबुक पेज जरुर LIKE करें!

यह भी पढ़ें:-

जाने किशोर कुमार के शहर खण्डवा में घुमने वाली 10 शानदार जगहों के बारे में 
जाने कैसी रही मेरी अमृतसर यात्रा – यात्रा वृतांत 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *