संग का फल | Sang ka Fall Moral Stories in Hindi

Sang ka Fall Moral Stories in Hindi

संग का फल | Sang ka Fall Moral Stories in Hindi


Sang ka Fall Moral Stories in Hindi

एक पेड पर एक कौआ और एक तोता बड़े मज़े से रहते थे| दोनों में बड़ी मैत्री थी| एक बार उन्हें वहां से विचरण करने वाले पक्षियों से यह सुचना मिली की सागर तक पर गरुड़ भगवान पधार रहें हैं| सभी पक्षी भगवान के दर्शन करने सागर किनारे जाने लगे| दोनों ने विचार किया, क्यों ना हम सबसे पहले सागर किनारे जाकर गरुड़ भगवान के दर्शन कर लें| बस फिर क्या था, दोनों ने साथ में सागर किनारे जाने की योजना बना ली| तडके सवेरे दोनों ने सागर किनारे जाने के लिए उडान भरी| कौआ और तोता दोनों जल्दी ही सभी पक्षियों से आगे निकल गए|

अचानक उड़ते-उड़ते कौए की नज़र एक व्यक्ति पर पड़ी, जो सर पर एक दही का मटका लिए बाज़ार में बेचने के लिए जा रहा था| कौए ने सोचा क्यों ना में उड़ते-उड़ते जाकर मटके पर बेठ जाऊ और थोडा दही खा लूँ| बस फिर क्या था बस सोचने भर की देर थी, कौआ उड़ते- उड़ते गया और उस व्यक्ति के मटके पर बेठ गया और अपनी चोंच में दही भर कर उड़ गया| अब कौए के मुह में दही का स्वाद लग चूका था हर बार वह उड़कर मटके के ऊपर बेठ जाता और अपनी चोंच में दही भरकर उड जाता| साथ जा रहे तोते को जब इस बात का पता चला तो उसने कौए को एसा करने से रोका लेकिन कौए तो कौआ ठहरा, उसने फिर उड़न भरी और अपनी चोंच में ढेर सारा दही भर कर खाने लगा| थोड़ी ही देर में किसान को कौए की चोरी का पता चल गया| किसान ने कोए को पकड़ने की काफी कोचिश की लेकिन वह असफल रहा| थोड़ी देर में किसान जब कौए से परेशान हो  गया तो उसने कौए को सबक सिखाने का मन बनाया|

Sang ka Fall Moral Stories in Hindi

किसान ने मटके को रास्ते में रख दिया और एक पेड के पीछे चुप कर देखने लगा| कौए को जब मटके के आस पास कोई नहीं दिखा तो वह फिर आया और चोंच में दही भर कर पेड की डाल पर बेथ कर खाने लगा| किसान ने कौए को सबक सिखाने के लिए हाथ में पत्थर लेकर कौए की तरफ फैका| लेकिन कौआ होंशियार था| जैसे ही उसे पता चला की किसान ने उसे मरने के लिए पत्थर फैका तो वह उड़ गया| जैसे ही कौआ उडा, पत्थर जाकर सीधा तोते को लगा और तोता मुर्चित होकर ज़मीन पर आ गिरा और कुछ देर में ही तोता वीरगति को प्राप्त हो गया|

तो भैयाजी कहानी का तर्क यही है, कि हम चाहे कितने ही अच्छे हो लेकिन अगर हमारा संग ख़राब है तो कभी भी हम एक बड़ी मुसीबत में फस सकते हैं| (राम-राम)

Sang ka Fall Moral Stories in Hindi

Hindi Short Stories डॉट कॉम

यह भी पढ़ें:-
           बेवकूफ गधा | Bewakoof Gadha Moral Stories in Hindi
           लालच बुरी बला | Lalach Buri Bala Moral Story in Hindi
           अहंकार | Short Moral Stories in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *